ब्लैक फंगस को लेकर सजग हुई यूपी सरकार, सीएम योगी ने दिए खास निर्देश

शासन के अधिकारियों को निर्देशित करते सीएम योगी
कोरोना महामारी के बीच ब्लैक फंगस की दस्तक ने सरकार को चिंता में डाल दिया है। सरकार ने इससे निपटने के लिए खास रणनीति बनाने के निर्देश जारी किये हैं। बतादें पहले मेरठ ब्लैक फंगस के दो मरीज मिले थे इसके बाद लखनऊ में तीन और अब मथुरा में भी ब्लैक फंगस के मरीज मिले हैं। अब इस मामले में सीएम योगी ने स्वयं संज्ञान लिया है।
सीएम योगी ने निर्देश दिया है कि अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य और प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा व राज्य स्तर पर गठित स्वास्थ्य विशेषज्ञों की समिति इस संबंध में रणनीति बनाएं। इसमें बचाव, सावधानियां, लाइन ऑफ ट्रीटमेंट आदि के बारे में सीएम कार्यालय को विस्तृत रिपोर्ट दें।
सीएम योगी ने टीम-9 की बैठक में कहा कि कोविड नियंत्रण के लिए राज्य सरकार द्वारा अपनायी गई रणनीति के सकारात्मक परिणाम मिल रहे हैं। वैश्विक महामारी का संक्रमण लगातार कम हो रहा है। एक्टिव केसेज की संख्या में निरन्तर कमी आ रही है।
30 अप्रैल में 3 लाख से अधिक कोरोना संक्रमण के एक्टिव मामले थे। 11 दिन में संक्रमण के एक्टिव मामलों में 1 लाख 04 हजार से अधिक की कमी आयी है। पिछले 24 घण्टों में संक्रमण के 18,125 नए मामलों की पुष्टि हुई है, जबकि विगत 24 अप्रैल को कोरोना के 38,000 से अधिक नये मामले आये थे।
सीएम ने निर्देश दिय कि प्रदेश में कोरोना के बचाव एवं उपचार की व्यवस्था को निरन्तर सुदृढ़ और प्रभावी बनाए रखें। टेस्टिंग की कार्यवाही को तेजी से बढ़ाया जाए। प्रतिदिन कोरोना के 3 लाख से 3.25 लाख टेस्ट किये जाएं। इनमें से आरटीपीसीआर विधि से 1.5 लाख टेस्ट तथा 1.5 लाख से 1.75 लाख टेस्ट रैपिड एण्टीजन माध्यम से किये जाएं।
सीएम ने कहा, आरटीपीसीआर टेस्ट की रिपोर्ट यथाशीघ्र उपलब्ध कराने पर विशेष ध्यान देते हुए रिपोर्ट 24 घण्टे में उपलब्ध कराने पर फोकस किया जाए। टेस्टिंग लैब की क्षमता के अनुसार ही सैम्पल उपलब्ध कराया जाए।
मुख्यमंत्री कहा कि गांवों को संक्रमण से सुरक्षित रखने के लिए प्रदेश सरकार द्वारा संचालित विशेष जांच अभियान को और प्रभावी बनाया जाए। उन्होंने निगरानी समितियों और आरआरटी के मध्य बेहतर तालमेल पर बल देते हुए कहा कि निगरानी समितियों द्वारा चिन्हित किये गये लक्षणयुक्त अथवा संक्रमण की दृष्टि से संदिग्ध लोगों के एण्टीजन टेस्ट आरआरटी द्वारा तत्काल किये जाएं।