सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट पर राहुल गांधी का तंज, कहा- देश को पीएम आवास की नहीं, सांस चाहिए

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने एक बार पीएम मोदी पर हमला बोला है। सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट को लेकर राहुल गांधी ने कहा, देश को इस वक्त लोगों को आवास की नहीं सांस की जरुरत है। कोरोना संक्रमण को लेकर राहुल गांधी अक्सर पीएम मोदी पर हमला करते रहे हैं। बीते दिनों सरकार पर विफलता का आरोप लगाते हुए कहा था, सरकार की करतूतों के कारण देश संपूर्ण लॉकडाउन के मुहाने पर खड़ा है।
बता दें बीते कई दिनों से देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या चार लाख के पास पहुंच रही है। इस दौरान देश में मौतों का आंकड़ा चार हजार से ज्यादा है। इसे लेकर राहुल ने पीएम मोदी को निशाने पर लिया है।
पीएम मोदी को निशाने पर लेते हुए राहुल ने अपने ट्वीटर अकाउंट पर दो फोटो भी शेयर किए हैं। पहली तस्वीर में ऑक्सीजन के लिए लाइन में लगे लोग खड़े हैं।
दूसरी तस्वीर में इंडिया गेट को दिखाया है जहां सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट पर काम चल रहा है। इन दो तस्वीरों को शयर करते हुए उन्होंने लिखा है- PM आवास नहीं, सांस चाहिए!
इससे पहले भी राहुल गांधी ने इस प्रोजेक्ट को लेकर पीएम मोदी की आलोचना की थी। उन्होने कहा था सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट धन की बर्बादी है। सरकार को कोविड महामारी में लोगों की रक्षा करनी चाहिए न कि घर पाने के लिए अपने घमंड को।
बता दें, सेंट्रल विस्‍टा प्रोजेक्‍ट के तहत करीब 13 एकड़ जमीन पर तिकाने आकार का नया संसद भवन तैयार होना है। इस प्राजेक्ट का एक हिस्‍सा अगले साल दिसंबर में बनकर तैयार हो जाएगा।
इसके तहत प्रधानमंत्री आवास और उपराष्‍ट्रपति भवन बनाए जाएंगे। सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट के पूरा करने की समयसीमा 2024 रखी गई है। मोदी सरकार का ये बेहद ही महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट है। इसके तहत लुटियंस दिल्ली में अंग्रेजों के बनाए 3.2 किलोमीटर की पट्टीनुमा इलाके को पुनः विकसित किया जाना है।
गौरतलब है कि कोरोना काल में सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट पर सवाल खड़े होने लगे हैं। इसके कामकाज को लेकर सुप्रीम कोर्ट में याचिक दायर की गई थी। सुप्रीम कोर्ट ने मामले को दिल्ली हाईकोर्ट के पास भेजा और इस मामले की जल्द सुनवाई का आग्रह किया।