पाकिस्तान का कश्मीर राग, कहा- अनुच्छेद 370 वापस लिए बिना भारत से वार्ता संभव नहीं

कोरोना महामारी में अपना सबकुछ लुटा चुका पाकिस्तान कश्मीर को लेकर अपनी नापाक हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। आर्थिक रूप से खस्ताहाल पाकिस्तान ने एक बार फिर से कश्मीर राग अलापा है। पाकिस्तान के पीएम इमरान खान ने कहा है कि कश्मीर में अनुच्छेद 370 को भारत वापस ले तब उससे वार्ता की जाएगी।
बता दें भारत ने 5 अगस्त 2019 को जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले आर्टिकल 370 को समाप्त कर दिया था। केंद्र सरकार ने राज्य को दो केंद्रशासित प्रदेशों में बदल दिया था।
अब इमरान खान ने एक बार फिर भारत सरकार को उसके निर्णय की याद दिलाते हुए कहा है-जब तक 5 अगस्त को लिया गया निर्णय वापस नहीं लिया जाता तब तक हम भारत के साथ कोई बातचीत नहीं करेंगे।
इसके पहले मंगलवार को ही देश के विदेश मंत्री शाह महमूह कुरैशी ने भी कहा है कि भारत के साथ बातचीत तभी भी होगी जब कश्मीर का निर्णय बदला जाएगा।
कुरैशी ने कहा कि जम्मू-कश्मीर भारत का आंतरिक मुद्दा नहीं है। ये मामला संयुक्त राष्ट्र में है। इस पर सिक्योरिटी काउंसिल के कई रिजोल्यूशन हैं।
बता दें, कश्मीर को लेकर भारत ने अपना पक्ष साफ कर दिया है। भारत ने कहा है जम्मू-कश्मीर का उसका अभिन्न अंग है और देश उसकी परेशानियों के समाधान में पूरी तरह सक्षम है।
नई दिल्ली ने इस्लामाबाद को संदेश दिया था कि दोनों देशों के बीच सामान्य पड़ोसियों की तरह संबंध हो सकते हैं अगर आतंक और हिंसा के माहौल को बंद किया जाए।