CWC की बैठकः वैज्ञानिकों की चेतावनी को पीएम ने किया नजरअंदाज, गलती का प्रायश्चित करें मोदी

कांग्रेस वर्किंग कमेटी की सोमवार को बैठक हुई। इस बैठक में बंगाल समेत यूपी पंचायत चुनावों में मिली हार की समीक्षा करनी थी। इसके अलावा कांग्रेस के स्थाई अध्यक्ष के चुनाव को लेकर निर्णय करना था, लेकिन कांग्रेस की शीर्ष नीति निर्धारक ईकाई की इस बैठक में इस विषय पर कोई चर्चा नहीं की गई। अध्यक्ष का चुनाव टाल दिया गया और हार पर चर्चा अगली बैठक में करने का निर्णय लिया गया। इस बीच चर्चा का केन्द्र पीएम मोदी और कोरोना बने रहे।
सीडब्ल्यूसी की बैठक के दौरान पीएम मोदी को अपनी गलतियों के लिए प्रायश्चित करने की मांग की गई। बैठक में कहा गया पीएम मोदी ने वैज्ञानिकों की चेतावनी को नजरंदाज किया जिसका खामियाजा आज देश भुगत रहा है। उन्हें इसके लिए देश से माफी मांगनी चाहिए।
बैठक के दौरान कांग्रेस नेताओं ने केन्द्र सरकार पर निशाना साधा। कांग्रेसी नेताओं ने कहा, कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर को केन्द्र सरकार उदासीनता, असंवेदनशीलता और अक्षमता का प्रत्यक्ष परिणाम है।
बैठक के दौरान कांग्रेस की कार्यकारी अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कहा, मोदी सरकार ने अपनी जिम्मेदारी से मुंह मोड़ा और टीकाकरण के काम को राज्यों के हवाले कर दिया। उन्होंने कहा, सभी लोगों को फ्री वैक्सीन उपलब्ध कराना न्यायसंगत होगा।
इस दौरान कांग्रेस ने कोरोना वैक्सीन की सप्लाई को लेकर भी केन्द्र सरकार पर निशाना साधा। कांग्रेस नेताओं ने कहा, मोदी सरकार तथ्यों को नाकार रही है। पूर्व पीएम मनमोहन सिंह ने भी पीएम मोदी को पत्र लिखाकर कोरोना वैक्सीन सप्लाई बढ़ाने की मांग की थी। लेकिन भारत के स्वास्थ्य मंत्री ने बड़े की अशोभनीय तरीके से जवाब दिया था।