दिल्ली में लगातार तीसरे दिन भी हिंसाः उपद्रवियों ने पथराव के बाद दो वाहनों में लगाई आग

नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ दिल्ली में लगातार तीसरे दिन भी हिंसा की खबरें सामने आ रही हैं। रविवारस सोमवार के बाद आज मंगलवार को भी दिल्ली के मौजपुरा इलाके में हिंसा और आगजनी की गई। प्रदर्शनकारियों ने पथराव के बाद आगजनी की। इसके अलावा जाफराबाद मेट्रो के पास सैकड़ों की संख्या में महिलाएं CAA के खिलाफ प्रदर्शन कर रही हैं। दिल्ली पुलिस के मुताबिक स्थिति अभी भी तनावपूर्ण है। हिंसा को देखते हुए सीलमपुर डीसीपी कार्यालय में बैठक चल रही है। बतादें बीते दो दिनों की हिंसा में पांच लोग मारे गए जबकि डीसीपी, एसीपी समेत 60 से ज्यादा लोग घायल हुए हैं। हिंसा के चलते दिल्ली के स्कूल बंद कर दिए गए हैं और परीक्षाएं स्थगित की गई हैं।
पुलिस के सामने फायरिंग करने वाला शख्स गिरफ्तार
दिल्ली में CAA को लेकर हिंसा थमने का नाम नहीं ले रही है। लगातार तीसरे दिन मौजपुरा, बाबरपुर और जाफराबाद में पथराव की घटनाएं हुईं। इन इलाकों में फिलहाल पुलिस का कोई पता नहीं। इस दौरान मौजपुर में दो वाहनों में आग लगाने की खबर आ रही है। इस बीच दिल्ली में प्रदर्शन के दौरान पुलिस के सामने गोली चलाने वाले शख्स की पहचना कर ली गई है। शाहरुख नाम का यह शख्स पुलिस के सामने ही कई राउंड फायरिंग की थी, पुलिस ने इसे गिरफ्तार कर लिया है।
हिंसा में पांच की मौत, 60 से ज्यादा घायल
बता दें, नागरिकता संशोधन कानून (CAA) और राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (NRC) के खिलाफ दिल्ली के उत्तर पूर्वी इलाकों में हिंसक प्रदर्शन जारी हैं। इस प्रदर्शन में अबतक पांच लोगों की जाने गई हैं जबकि डीसीपी और एसीपी समेत 60 से ज्यादा लोग गंभीर रूप से घायल हो गए।
हेड पुलिस कॉन्स्टेबल की मौत
जानकारी के अनुसार गोकुलपुरी में दो समूहों के बीच झड़प के दौरान दिल्ली पुलिस के हेड कॉन्स्टेबल रतन लाल की मौत हो गई। रतन लाल राजस्थान के सीकर के रहने वाले थे। वह 1998 में दिल्ली पुलिस मे भर्ती हुए थे। रतन लाल एसीपी गोकलपुरी कार्यालय में तैनात थे। यहां वह अपनी पत्नी और 3 बच्चों के साथ रह रहे थे।
अमित शाह ने कहा हिंसा को पूरी ताकत से रोकें, कोताही बर्दाश्त नहीं
दिल्ली में बीते तीन दिनों से जारी हिंसा को गृहमंत्रालय ने गंभीरता से लिया है। केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने अब हिंसा रोकने की बागडोर अपने हाथ में लेते हुए उच्च प्रशासनिक अधिकारियों के साथ आपात बैठक की। बैठके के दौरान उन्होंने अधिकारियों को सख्त निर्देश दिए हैं कि दिल्ली में हिंसा कर रहे लोगों को पूरी ताकत के साथ रोका जाए। इसमें किसी तरह की कोताही नहीं होनी चाहिए। बैठक में केंद्रीय गृह सचिव एके भल्ला सहित दिल्ली के उप-राज्यपाल अनिल बैजल और दिल्ली पुलिस कमिश्नर अमूल्य पटनायक शामिल रहे। बैठक के दौरान गृहसचिव अजय भल्ला ने स्थिति के पूरी तरह नियंत्रण में होने का दावा करते हुए कहा कि पर्याप्त पुलिस बल के साथ पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी मौके पर तैनात हैं।
प्रदर्शनकारियों ने दो घरों और पेट्रोल पंप को किया आग के हवाले
इससे पहले रविवार और सोमवार को उत्तर पूर्वी दिल्ली के जाफराबाद और मौजपुर इलाकों में प्रदर्शकारियों ने दो घरों में आग लगाने के अलावा एक पेट्रोल पंप को आग के हवाले कर दिया था। इन इलाकों में CAA समर्थकों और विरोधियों के बीच जमकर पथराव हुए। पुलिस ने उपद्रवियों को तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस के गोले छोड़े और कई जगह लाठी चार्ज भी करना पड़ा। अधिकारियों के अनुसार प्रदर्शनकारियों ने इलाके में लगी आग बुझाते समय दमकल की एक गाड़ी को भी नुकसान पहुंचाया।