दिल्ली में फिर हिंसाः प्रदर्शनकारियों ने कहा, शाहीन बाग की तरह मौजपुर की सड़कें भी नहीं होगी खाली

प्रदर्शनकारियों ने साफ तौर पर कहा है कि प्रदर्शन करना हमारा अधिकार है, संविधान ने हमे भी धरना देने का अधिकार दिया है। जब शाहीन बाग, जाफराबाद, चांदबाग से सड़कें खाली नहीं होगी तो मौजपुर में भी सड़कें खाली नहीं होंगी…
नागरिकता संशोधन कानून (CAA)और राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (NRC) को लेकर दिल्ली का माहौल बेहद गर्म है। रविवार को बवाल के बाद सोमवार को भी दिल्ली के मौजपुर में प्रदर्शन जारी है। मौजपुर मंदिर के पास नागरिकता संधोधन के समर्थक और स्थानीय लोग सड़कों पर हैं। उधर इसका विरोध करने वाले भी सड़कों पर डेरा डाले हैं।
यहां हर मंगलवार होगा हनुमान चालीसा
इस बीच CAA के समर्थकों ने सड़क जाम कर दी है और जय श्री राम के नारे लगा रहे हैं। समर्थकों ने इस बात का भी ऐलान किया है कि वह हर मंगलवार को यहां हनुमान चालीसा का पाठ करेंगे। इसके पहले रविवार को भाजपा नेता कपिल मिश्रा और उनके समर्थकों ने मौजपुर में CAA के समर्थन में धरना दिया था। उनके इस कदम के बाद विरोधियों के एक गुट ने पत्थरबाजी शुरु कर दी थी।
तो मौजपुर की सड़कें भी खाली नहीं होंगी
सोमवार को भी मौजपुर में महिलाएं सड़कों पर धरना दे रही हैं। तनावपूर्ण स्थिति को देखते हुए मौजपुरा में भारी पुलिस फोर्स की तैनाती कर दी गई है। इस बीच प्रदर्शनकारियों ने साफ तौर पर कहा है कि प्रदर्शन करना हमारा अधिकार है, संविधान ने हमे भी धरना देने का अधिकार दिया है। जब शाहीन बाग, जाफराबाद, चांदबाग से सड़कें खाली नहीं होगी तो मौजपुर में भी सड़कें खाली नहीं होंगी। इधर धरने में शामिल महिलाएं लाउडस्पीकर के जरिए नारे बाजी कर रही हैं और यहां से गाने भी बज रहे हैं।
रविवार की हिंसा में पुलिस ने दर्ज किए चार मुकदमें
इस बीच रविवार को हुए हिंसक प्रदर्शन के दौरान जाफराबाद, मौजपुर और दयालपुर में 10 पुलिसकर्मियों समेत कई नागरिक घायल हो गए थे। पुलिस ने इस मामले में चार एफआईआर दर्ज किए हैं। हिंसक प्रदर्शनों के बाद इन इलाकों में भारी संख्या पुलिस बल तैनात कर दिए गए हैं।
मौजपुर और करावल नगर में हुई थी हिंसा
दरअसल रविवार को उत्तर पूर्व दिल्ली के मौजपुर, करावल नगर में CAA के समर्थक और विरोधियों में टकराव हो गया था। इसके बाद मौजपुर, करावल नगर समेच कई इलाकों में बवाल हो गया था। इस बवाल में जमकर पथराव और आगजनी की घटनाओं को अंजाम दिया गया था। इस बीच खबर है कि जाफराबाद में महिलाएं दोबार धरने पर बैठ गई हैं।
अब CAA समर्थकों ने बंद की सड़क
इस धरने की वजह से यातायात बुरी तरह से प्रभावित हुआ है। महिलाओं का कहना है कि जबतक CAA-NRC वापस नहीं लिया जाता वह यहां से नहीं हटेंगी। इस बीच CAA समर्थकों ने भी मौजपुर की सड़क को बंद कर दिया है और यहां पर सड़क पर ही बैठकर प्रदर्शन किया जा रहा है।