वाराणसीः कोरोना काल में बने आश्रय स्थल में नर कंकाल मिलने से सनसनी, जांच में जुटा प्रशासन

उत्तर प्रदेश में पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी से बड़ी खबर सामने आई है। यहां पर कोरोना काल में बने आश्रय स्थल से एक नक कंकाल मिलने से सनसनी फैल गई है। बता दें, कोरोना काल में इस आश्रय स्थल में गरीबों और मनासिक रूप से विक्षिप्त लोगों को रखा गया था। मामला वाराणसी के जेपी मेहता इंटर कॉलेज का है। लंबे समय से बंद पड़ा स्कूल जल्ल ही खोला गया था। क्लास में बच्चों ने नर कंकाल देखा जिसकी सूचना उन्होंने प्राचार्य को दी। प्राचार्य ने कैंट पुलिस को इस बात की सूचना दी।
प्राचार्य की सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस जांच में जुट गई है। इसके अलावा मौके पर फारेंसिक टीम भी सैंपल लेने में जुटी है। अब रिपोर्ट आने के बाद ही कंकाल से जूड़ी गुत्थी सुलझ पाएगी।
बता दें, कोरोना काल में बने इस आश्रय स्थल में गरीबों और मानसिक विक्षिप्त लोगों को रखा गया था। जिन्हें यहां पर रखा गया था उनमें से कई गंभीर स्थिति में थे। सवाल है कि क्या ये कंकाल उन्ही मे से किसी व्यक्ति का है या फिर किसी और का, लेकिन बड़ी बात ये है कि अगर ऐसे किसी व्यक्ति की मौत का पता प्रशासन को क्यों नहीं चला, फिलहाल ये जांच का विषय है।
पुलिस के अनुसार, कंकाल को देखकर कहा जा सकता है कि ये काफी दिनों से यहां पड़ा था। एक और बात स्कूल के खुले छह दिन से ज्यादा का समय बीत चुका है तो किसी की नजर इस कंकाल पर क्यों नहीं पड़ी? ऐसे तमाम सवालों के बीच पुलिस की जांच आगे बढ़ रही है।