यूपी महिला आयोग की अध्यक्ष बोलीं, कोई भी महिलाओं को कमजोर समझने की भूल न करे

कोरोना काल में 24 घंटे साथ रहने के कारण छोटी बातें बड़ी और गंभीर हो गई हैं

यूपी महिला आयोग की अध्यक्ष विमला बाथम
यूपी महिला आयोग की अध्यक्ष विमला बाथम ने कहा है कि, कोरोना काल के दौरान घरेलू हिंसा के मामले बढ़े हैं। घरों में छोटी-मोटी बातें अब गंभीर स्थिति ले रही हैं। 24 घंटे साथ रहने के कारण छोटी बातें बड़ी और गंभीर हो गई हैं। हालांकि अब अनलॉक के बाद स्थितियां नियंत्रण में आई हैं लेकिन अभी मामले सामने आ रहे हैं। ये बातें उन्होंने मेरठ में एक पत्रकार वार्ता के दौरान कहीं।
कानून के बावजूद कम नहीं रहे तलाक के मामले
उन्होंने बताया, एक बेटी अपनी मां को साथ लेकर मिलने आई थी। उसने बताया कि उसकी मां को पता ही नहीं कि उसका तलाक हो चुका है। उसे शिकायत दर्ज कराने को कहा गया है। बाथम ने बताया कि तीन तलाक का कानून होने के बावजूद तलाक के मामले कम नहीं हो रहे हैं, यह स्थिति चिंताजनक है।
महिलाएं अब अन्याय सहन नहीं करती हैं
इस दौरान विमला बाथम ने कहा, कोई भी महिलाओं को कमजोर समझने की भूल न करे। महिलाओं को अब बहुत से अधिकार मिल गए हैं। अब वह ईंट का जवाब पत्थर से दे रही हैं। महिलाएं अब अन्याय नहीं सहती हैं, वह अन्याय करने वालों को करारा जवाब दे रही हैं।
महिलाएं सशक्त होकर सामने आ रही हैं
उन्होंने कहा पहले महिलाओं की स्थिति अत्यन्त दयनीय थी। घरों में उसकी कोई न तो परवाह करता था और न ही कोई इज्जत। अब महिलाओं की स्थिति बदली है। महिलाएं अब सशक्त होकर सामने आ रही हैं इसलिए उसे कमजोर समझने की भूल कतई न करें।