यूपी शिक्षक भर्ती मामलाः हाईकोर्ट ने विशेष सचिव बेसिक शिक्षा को जारी किया नोटिस

इलाहाबाद हाईकोर्ट
इलाहाबाद हाईकोर्ट ने यूपी शिक्षक भर्ती से जुड़े के मामले को लेकर विषेश सच्व बेसिक शिक्षा को अवमानना नोटिस जारी किया है। हाईकोर्ट ने सहायक अध्यापक भर्ती 2018 के अभ्यर्थियों को नियुक्ति देने के आदेश का पालन न होने पर सख्त रुख अपनाया है।
हाईकोर्ट ने अदालत के आदेश का अनुपालन न करने पर विशेष सचिव अनुभाग पांच बेसिक शिक्षा मनीष वर्मा को अवमानना नोटिस जारी किया है। हांलाकि कोर्ट ने आदेश का अनुपालन नहीं करने पर विशेष सचिव को व्यक्तिगत रूप से अदालत में हाजिर होकर स्पष्टीकरण देने के लिए कहा है।
याची अंजना त्रिपाठी की ओर से दाखिल अवमानना याचिका पर जस्टिस विवेक कुमार बिरला की एकलपीठ ने यह आदेश दिया है। याची के अनुसार, हाईकोर्ट ने याची को 2018 की भर्ती में नियुक्ति देने पर विचार कर निर्णय लेने का निर्देश दिया था। लेकिन अधिकारियों द्वारा इस आदेश का पालन नहीं किया गया।
सरकारी वकील ने बताया कि कोर्ट के जानकारी कि नियुक्ति का प्रकरण शासन में लंबित है। सरकार की ओर से दिए गए जवाब के आधार पर कोर्ट ने इस मामले में विशेष सचिव को पक्षकार बनाने का आदेश देते हुए उन्हें नोटिस जारी कर आदेश के अनुपालन का एक और मौका दिया है।
कोर्ट ने इस मामले में जवाब मांगते हुए कहा है कि यदि जवाब दाखिल नहीं किया जाता है तो अवमानना के आरोप निर्मित किए जाएंगे। इस दौरान आदेश के पालन का भी एक और अवसर दिया है।
याची का कहना है कि 22 अक्तूबर 20 को बेसिक शिक्षा विभाग को आदेश दिया था कि याचीगण को दो गलत प्रश्नों के अंक देकर संशोधित परिणाम जारी किया जाए। इस आदेश का पालन अब तक नहीं किया गया है।