सतीश चन्द्र मिश्रा बोलेः न अदालत न कानून, ब्राह्मणों को सीधे गोली मार रही योगी सरकार

योगी सरकार प्रदेश के मजबूत ब्राह्मणों को चुन-चुन कर मार रही हैः सतीश चंद्र मिश्रा

आगरा में प्रबुद्ध सम्मेलन को संबोधित करते बसपा महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा
उत्तर प्रदेश की राजनीति में जातिवाद और धर्म की बातें न हों ऐसा संभव नहीं। हर पार्टी जातियों और धर्मों के आधार पर लोगों को भ्रमित करने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ रही हैं। अब प्रदेश के ब्राह्मण मतदाताओं को लेकर नया शिगूफा छोड़ा जा रहा है।
विकाश दूबे के अनकाउंटर के बाद ब्राह्मणों के पक्ष में मुखर हुई बसपा
बसपा और सपा प्रदेश सरकार पर ब्राह्मणों के साथ भेदभाव का आरोप मढ़ने के साथ उन पर अत्याचार का आरोप लगा रहे हैं। बता दें कानपुर एक एक गुनाहगार विकास दूबे के एनकाउंटर के बाद बसपा-सपा ब्राह्मणों के पक्ष में खुलकर सामने आ गए हैं।
न अदालत,न कानून सीधे गोली मारकर फैसला
ब्राह्मण-दलित की सोशल इंजीनियरिंग के जनक बसपा महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा ने एक बार फिर इसी को आजमाने का फैसला किया है। इसी के चलते बीते दिनों उन्होंने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा, योगी सरकार में ब्राह्मणों पर हमले तेज हुए हैं। कानपुर के बिकरू कांड में कई बेगुनाहों को फंसाया गया है। न अदालत, न कानून सीधे गोली मारकर फैसला हुआ है।
मजबूत ब्राह्मणों को निशाना बना रही सरकार
आगरा में प्रबुद्ध सम्मेलन को संबोधित करते हुए सतीश मिश्रा ने कहा, बसपा ने 2007 में दलित-ब्राह्मण गठजोड़ से सरकार बनाई थी। तब ब्राह्मणों को सम्मान मिला था, अब जबकि भाजपा सरकार है, जिसे ब्राह्मण समुदाय ने अपना पूरा समर्थन दिया लेकिन ये सरकार मजबूत ब्राह्मणों को मार रही है।
ब्राह्मणों पर अत्याचार नहीं बर्दाश्त करेगी बसपा
सतीश मिश्रा ने कहा, भाजपा सरकार यहीं पर नहीं रुकी, ब्राह्मणों की महिलाओं और बच्चों को भी निशाना बनाया जा रहा है। उन्होंने कहा, भाजपा सरकार में जिस तरह से खुशी दूबे को परेशान किया जा रहा है ये सब जानते हैं। बसपा ब्राह्मण समाज पर हो रहे अत्याचार को बर्दाश्त नहीं करेगी।