प्रबुद्ध सम्मेलन में बसपा नेत्री ने कहा- ब्राह्मणों के खिलाफ काम कर रही योगी सरकार

मंहगाई के कारण गरीब और मध्यम वर्ग के लोगों का जीना हराम

बसपा नेता और सतीश चंद्र मिश्रा की पत्नी कल्पना मिश्रा प्रबुद्ध सम्मेलन को संबोधित करती हुई
उत्तर प्रदेश में प्रबुद्ध सम्मेलनों के जरिए ब्राह्मणों को बसपा के साथ जोड़ने के लिए महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा पूरी ताकत के साथ जुटे हैं। प्रदेश के तमाम जनपदों में प्रबुद्ध सम्मेलनों में योगी सरकार की नीतियों और ब्राह्मणों के प्रति उनकी सोच को उजागर कर ब्राह्मणों को अपने पक्ष में करने का भरसक प्रयास कर रहे हैं। अब उनके इस मुहीम में उनकी पत्नी कल्पना मिश्रा में कंधे से कंधा मिलाकर बसपा के लिए ब्राह्मण मतों को अपने पक्ष में करने के लिए रण में उतर गई हैं।
ब्राह्मण समुदाय को एकजुट होना होगा
लखनऊ स्थित बसपा कार्यालय पर महिला प्रबुद्ध सम्मेलन को संबोधित करते हुए कल्पना मिश्रा ने कहा, जिस तरह सतीश चंद्र मिश्रा ब्राह्मण वर्ग को एक जुट करने का प्रयास कर रहे हैं, उनकी पत्नी होने के कारण यह मेरा भी नैातिक कर्तव्य है कि उनके काम में सहयोग करूं।
भाजपा सरकार में महिलाएं असुरक्षित
कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, प्रदेशवासियों ने बसपा का शासन देखा है। बसपा शासनकाल में हमारी बहन, बेटियां आवश्यकतानुसार देर रात घर से बाहर निकलने में हिचकती नहीं थी, उन्हें अपराधियों का कोई डर नहीं था लेकिन भाजपा सरकार में महिलाएं असुरक्षित महसूस कर रही हैं, उन्हें हर पल किसी अप्रिय घटना का भय सताता रहता है।
एक जाति के लोगों का अत्याचार चरम पर
सरकार पर आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा, प्रदेश में लूट डकैती हत्या बलात्कार जैसे अपराध आम हो गए हैं। आज प्रदेश में अराजकता का माहौल है। ब्राह्मण समाज के लोगों को एनकाउंटर के नाम पर मारा जा रहा है। उनके मां-बाप, पत्नी ,बच्चों को कोई पूछने वाला नहीं है। एक जाति विशेष के लोगों पर अत्याचार चरम पर है।
गरीबों और मध्यम वर्ग के परिवारों को घर चलाना मुश्किल
मंहगाई को लेकर भाजपा पर हमलावर कल्पना मिश्रा ने कहा, सरकार झूठे वादे के लिए मशहूर है। मौजूदा समय में महंगाई रिकॉर्ड तोड़ चुके हैं रसोई गैस सिलेंडर 900 के पार है। गरीब और मध्यम परिवार के लोगों को अपना घर चलाने में मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है।