Under19 World Cup : बांग्लादेश ने वर्ल्ड कप जीत रचा इतिहास, 5वीं बार चैंपियन बनने का भारत का सपना टूटा

आईसीसी का ये लगातार दूसरा वर्ल्ड कप फाइनल था, जिसने दर्शकों को रोमांच के चरम पर पहुंचा दिया। इंग्लैंड में 2019 में खेले गए वनडे वर्ल्ड कप का रोमांच तो इतिहास के सुनहरे पन्ने पर दर्ज हो ही गया, साथ ही भारत और बांग्लादेश के बीच खेले गए अंडर 19 क्रिकेट वर्ल्ड कप का खिताबी मुकाबला भी पल-पल प्रशंसकों की धड़कने बढ़ाता रहा। हर गेंद के साथ बदलती बाजी के बीच बांग्लादेश ने भारत को 3 विकेट से हराकर पहली बार कोई बहुदेशीय टूर्नामेंट जीतकर इतिहास रच दिया। किसी भी स्तर पर ये बांग्लादेश का पहला वर्ल्ड कप है। बांग्लादेश ने बारिश से प्रभावित मैच में डकवर्थ लुइस नियम के तहत 42।1 ओवर में 170 रन बनाकर जीत हासिल की। टीम ने 23 गेंद शेष रहते ये लक्ष्य हासिल किया। बांग्लादेश की टीम पूरे टूर्नामेंट में अजेय रही, जबकि टीम इंडिया को एकमात्र हार फाइनल में ही मिली।
बांग्लादेश (Bangladesh) की जीत के नायक कप्तान अकबर अली रहे, जिन्होंने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का फैसला किया। भारतीय टीम (Indian Team) के लिए यशस्वी जायसवाल (Yashasvi Jaiswal) को छोड़कर कोई भी बल्लेबाज क्रीज पर टिकने का भरोसा नहीं दिला सका। टीम पूरे 50 ओवर तक नहीं खेल पाई और 47।2 ओवर में 177 रनों पर ही ढेर हो गई। जायसवाल ने सबसे ज्यादा 88 रन बनाए। टीम के 8 बल्लेबाज दहाई के आंकड़े तक भी नहीं पहुंच सके। जवाब में बांग्लादेश के लिए ओपनर परवेज हुसैन एमन ने 79 गेंदों पर 47 रन बनाए, लेकिन टीम को विजयी मंजिल तक पहुंचाने का काम अकबर अली ने किया। अली 77 गेंदों पर 43 रन बनाकर नाबाद रहे। इस पारी में उन्होंने 4 चौके और 1 छक्का लगाया। उन्होंने तब मोर्चा संभाला जब टीम 14।1 ओवर में 62 रनों पर तीन विकेट खोकर संकट में थी। बांग्लादेश की टीम जब जीत से 15 रन दूर थी तभी बारिश आ गई, जिसके बाद लक्ष्य घटाकर 30 गेंदों पर 7 रन कर दिया गया। बारिश बंद होने के बाद बांग्लादेश ने जीत की औपचारिकता पूरी की।
भारत की खराब शुरुआत
पाकिस्तान अंडर-19 के खिलाफ सेमीफाइनल में भारत को 10 विकेट से जीत दिलाने वाली जायसवाल (Yashasvi Jaiswal) और दिव्यांश सक्सेना की जोड़ी सातवें ओवर में ही टूट गई जब टीम का स्कोर सिर्फ नौ रन था। शरीफुल और तनजीम ने भारतीय सलामी जोड़ी पर दबाव बनाया जिसका फायदा उठाते हुए तेज गेंदबाज अविषेक ने सक्सेना को बैकवर्ड प्वाइंट पर महमूदुल हसन के हाथों कैच करा दिया। सक्सेना ने 17 गेंद में दो रन बनाए। जायसवाल और तिलक वर्मा ने इसके बाद पारी को संवारा। जायसवाल ने 17वें ओवर में शमीम हुसैन पर चौके के साथ टीम के रनों का अर्धशतक पूरा किया।
यशस्वी ने पूरा किया मौजूदा वर्ल्ड कप का चौथा अर्धशतक
बांग्लादेश (Bangladesh) के गेंदबाजों ने बीच के ओवरों में भारतीय बल्लेबाजों पर दबाव बनाया। वर्मा ने 25वें ओवर में अविषेक पर चौके के साथ भारत के 50 गेंद के बाउंड्री के सूखे को खत्म किया। जायसवाल (Yashasvi Jaiswal) ने तौहिद हृदय की गेंद पर एक रन के साथ 89 गेंद में मौजूदा विश्व कप का चौथा अर्धशतक पूरा किया। यशस्वी जायसवाल ने 29वें ओवर में तनजीम की गेंद पर छक्के के साथ भारत (India) का स्कोर 100 रन के पार पहुंचाया लेकिन इसी ओवर में वर्मा डीप बैकवर्ड प्वाइंट पर शरीफुल को कैच दे बैठे। उन्होंने 65 गेंद का सामना करते हुए तीन चौकों की मदद से 38 रन बनाए। दोनों ने दूसरे विकेट के लिए 94 रन जोड़े।
21 रन जोड़कर गिरे आखिरी 7 विकेट
कप्तान प्रियम गर्ग (Priyam Garg) नौ गेंद में सात रन बनाने के बाद रकीबुल की गेंद पर तनजीम को बेहद आसान कैच दे बैठे जिससे भारत का स्कोर तीन विकेट पर 114 रन हो गया। जायसवाल (Yashasvi Jaiswal) ने इसके बाद कुछ आकर्षक शाॅट खेले लेकिन शरीफुल ने 40वें ओवर में उन्हें और सिद्धेश वीर (00) को लगातार गेंदों पर पवेलियन भेजकर भारत को दोहरा झटका दिया। जायसवाल ने 121 गेंद की पारी में आठ चौके और एक छक्का लगाया। ध्रुव जुरेल भी 38 गेंद में 22 रन बनाने के बाद अथर्व अनकोलेकर के साथ गलतफहमी का शिकार होकर रन आउट हुए। आउट होने से पहले उन्होंने यशस्वी के साथ चौथे विकेट के लिए 42 रन की साझेदारी की। इसके बाद रवि बिश्नोई (02) भी रन आउट हुए जबकि अविषेक ने अनकोलेकर (03) और कार्तिक त्यागी (00) को पवेलियन भेजा। तनजीम ने सुशांत मिश्रा (03) को पवेलियन भेजकर भारत की पारी का अंत किया। बांग्लादेश की ओर से अविषेक ने 40 रन देकर तीन जबकि शरीफुल इस्लाम ने 31 रन देकर दो विकेट लिए। वहीं तनजीम हसन साकिब ने 28 रन की एवज में दो विकेट हासिल किए।

सोर्सः न्यूज 18