चाचा शिवपाल की हसरतः एक हो समाजवादी परिवार, मिलकर लड़ना चाहते हैं 2022 का चुनाव

समाजवादी पार्टी के गठन से लेकर उसे मुकाम तक पहुंचाने में अहम भूमिक निभाने वाले शिवपाल यादव ने अपने 66वें जन्म दिन पर एक बार फिर अपनी दिली हसरत जाहिर की है। उन्होंने कहा, बसंत पंचमी के अवसर पर हम एक बार फिर अपने भतीजे अखिलेश से कहते हैं कि समाजवादी परिवार को एक हो जाना चाहिए और मिलकर चुनाव लड़ना चाहिए। उन्होंने कहा समाजवादी परिवार को एक होने से रोकने वाले लोगों से सावधान रहने की जरुरत है, वह नहीं चाहते कि हम किसी भी तरह एक हो जाएं।
प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष शिवपाल सिंह का 66वां जन्मदिन कार्यकर्ताओं ने धूमधाम से मनाया। इस दौरान पत्रकारों से बातचीत के दौरान उन्होंने कहा, आज मां सरस्वती का दिन है, इस दिन मां सरस्वती सबको सदबुद्धि दें। इस दौरान उन्होंने का सपा संरक्षक मुलायम सिंह आज लकनऊ में नहीं हैं नहीं सबसे पहले मै उन्ही का आशीर्वाद लेता। वैसे भी नेता जी हमारे दिल में रहते हैं।

शिवपाल यादव ने इस दौरान सपा के अंदरूनी कलह को लेकर भी अपनी बात रखी। उन्होंने कहा, चाचा और भतीजे के बीच दूरियां बढ़ाने वालों से सावधान रहने की जरुरत है। उन्होंने कहा हमारी इच्छा है कि 2022 का चुनाव मिलकर लड़ा जाए। उन्होंने कहा हमारी पहली प्राथमिकता में सपा है।
उन्होंने कहा हमारी इच्छा है कि समाजवादी परिवार एक हो,कुछ लोग नहीं चाहते कि परिवार एक हो, शिवपाल ने कहा मां सरस्वती उन लोगों को सदबुद्धि दें। इस दौरान शिवपाल ने कहा, मीडिया यह जानती है कि परिवार को एक होने के रास्ते की सबसे बड़ी रुकावट कौन लोग हैं।
शिवपाल यादव ने कहा, भाजपा को हराने के लिए सभी को एकसाथ लड़ना होगा, बिना किसी द्वेष के। एक साथ आए बिना भाजपा को हरा पाना मुश्किल है। उन्होने कहा लोगों ने मुझे भाजपा की ‘बी’ टीम कहा करते थे, लेकिन वे लोग भाजपा की ‘ए’ टीम बन गए हैं। इस दौरान उन्होंने ऐलान किया कि प्रसपा ग्रांम पंचायत चुनाव में हिस्सेदारी नहीं करेगी लेकिन जिला पंचायत की चुनाव जरुर लड़ेगी।
शिवपाल यादव ने कार्यकर्ताओं से 2022 के चुनाव की अभी से तैयारी करने की सलाह देते हुए कहा, 2022 के चुनाव में देशभर के सभी समाजवादियों को एक साथ आना होगा तभी गैर भाजपा सरकार बन सकती है। उन्होंने कहा समाजवादियों ने समाज के दम पर चाप बार सरकार बनाई है। जनता परिवर्तन चाहती है इसलिए सभी को एक साथ मिलकर एक मंच पर आना होगा।