चाचा शिवपाल ने कहा- भतीजे के साथ बिना शर्त गठबंधन, सीएम तो अखिलेश यादव ही होंगे

प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के मुखिया शिवपाल यादव ने एक बार फिर भतीजे अखिलेश यादव की तरफ हसरत भरी निगाहों से देख रहे हैं। मैनपुरी में एक कार्यक्रम के दौरान उनकी ये हसरत जुबां से जरिए लोगों तक पहुंची। उन्होंने कहा, मै भतीजे अखिलेश की हर शर्त मानने को तैयार हूं, बिना शर्त गठबंधन के लिए भी तैयार हूं। इस दौरान उन्होंने बड़ा बयान दिया, कहा केन्द्र में प्रधानमंत्री पद के विकल्प हैं अखिलेश यादव लेकिन पार्टी के अंदर कुछ लोग ऐसा होने नहीं देना चाहते हैं। ये वही लोग हैं जो भाजपा के साथ मिलकर अपना काम कराते हैं।
इस दौरान उनका दर्द भी छलक कर सामने आया। इशारों मे उन्होंने राम गोपाल यादव को लेकर कहा, पार्टी में कुछ लोग हैं जो परिवार में समझौते के खिलाफ हैं।
शिवपाल ने कहा, पार्टी के कुछ लोग नहीं चाहते कि परिवार दोबारा एक साथ एक मंच पर आए। शिवपाल ने कहा, मैने अखिलेश यादव के सामने बिना शर्त गठबंधन का प्रस्ताव रखा था, जिस पर मै आज भी कायम हूं, लेकिन लोगों ने बात नहीं बनने दी। उन्होंने कहा पार्टी में विघटन न हो और नई पार्टी बनाने से पहले मै चार बार राम गोपाल यादव से मिला था।
शिवपाल यादव ने कहा, वह बिना किसी शर्त के गठबंधन को तैयार हैं इसका मतलब ये है कि वह अखिलेश यादव को मुख्यमंत्री बनते देखना चाहते हैं। अखिलेश यादव को मुख्यमंत्री बनाने के लिए तैयार हैं।
उन्होने कहा 2014 में लोकसभा चुनाव में पांच सीटें आने के बाद महागठबंधन बनाने के लिए नीतिश कुमार, लालू यादव, शरद पवार और अजीत सिंह से उनकी मुलाकात हुई थी, लेकिन कुछ लोगों ने इसमें अड़ंगा लगा दिया। शिवपाल ने कहा, वर्तमान हालात को देखते हुए सभी को साथ मिलकर लड़ना होगा तभी भाजपा को हराया जा सकता है।
इस दौरान उन्होंने किसान आंदोलन और नए कृषि कानूनों को लेकर अपनी बात रखी। उन्होंने भाजपा पर आरोप लगाते हुए कहा, भाजपा कॉरपोरेट घरानों को फायदा पहुंचाने के लिए किसानों के साथ अन्याय कर रही है। उन्होंने कहा, कृषि कानूनों के लागू हो जाने के बाद किसान अपने खेत में मजदूर बनकर रह जाएगा।