पीएम मोदी से मुलाकात के बाद बदले उद्धव के सुर, CAA-NPR को लेकर दिया बड़ा बयान

CAA-NPR पर बिगड़े माहौल और महाराष्ट्र सियासत में मचे घमासान के बीच शुक्रवार को सीएम उद्धव ठाकरे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से मुलाकात की। इस मुलाकात के बाद CAA और NPR पर उनके सुर ही बदल गए। कांग्रेस और एनसीपी के दबाव में चल रहे उद्धव ठाकरे शुक्रवार को बदले-बदले से नजर आए। उन्होने कहा, CAA और NPR से किसी को डरने की जरुरत नहीं। NPR हर 10 साल में होने वाली प्रक्रिया है। इसके अलावा उन्होंने NRC को लेकर कहा कि इससे मुस्लिमों को डरने की कोई जरुरत नहीं है।
NPR सामान्य प्रक्रिया इससे डरने की जरुरत नहीं
मुलाकात के बाद महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे ने कहा, पीएम मोदी से CAA और NRC पर गंभीर चर्चा हुई। इस मामले पर मैने अपनी भूमिका स्पष्ट कर दी है। NPR से किसी को डरने की जरुरत नहीं हमने पहले ही इस पर अपनी मंशा जाहिर कर दी है। यह हर 10 साल पर होने वाली सामान्य प्रक्रिया है। इससे किसी का अधिकार नहीं छीना जाएगा, हमने महाराष्ट्र के लोगों से कहा है कि NRC से मुस्लिमों को डरने की कोई जरुरत नहीं उन्हें इससे कोई खतरा नहीं है।
CAA को लेकर लोगों को भड़काया जा रहा है
CAA पर उद्धव ठाकरे ने कहा, इसे लेकर लोगों को भड़काया जा रहा है। एक अफवाह उड़ाई जा रही है कि इससे मुस्लिमों की नागरिकता छीन ली जाएगी। ये बिल्कुल गलत है। उद्धव ठाकरे ने कहा, CAA को लेकर कांग्रेस से हमारी बात चल रही है। उन्होंने कहा आप देख लें महाराष्ट्र में ऐसा कुछ भी नहीं हो रहा है। हमने मन बना लिया है हम कॉमन मिनिमम प्रोग्राम के तहत आगे बढ़ रहे हैं।
मुस्लिमों को इस देश में कोई खतरा नहीं
उद्धव ठाकरे ने कहा, CAA को लेकर किसी को डरने की जरुरत नहीं है। NRC केवल असम तक सीमित है। एनआरसी पूरे देश में लागू नहीं होगी। एनपीआर और सेन्सस की जहां तक बात है तो सेन्सस हर दस साल में होता है। महाराष्ट्र के लोगों को स्पष्ट किया है किसी के अधिकार को छीनने नहीं दूंगा। एनआरसी में मुसलमानों के लिये जो खतरनाक है ऐसा माहौल बनाया जा रहा है। ऐसा कुछ भी नहीं है।