टोक्यो ओलंपिकः ऑस्ट्रेलिया को हराकर पहली बार सेमीफाइनल में पहुंची भारतीय महिला हॉकी टीम

अपने तीसरे ओलंपिक में ही भारतीय महिला हॉकी टीम ने दिखाया कमाल, पहली बार पहुंची सेमीफाइनल में

टोक्यो ओलंपिक में भारतीय महिला हॉकी टाम ने भी अपना कमाल दिखाया, ऑस्ट्रलिया को हराकर सेमीफाइनल में पहुंची

टोक्यो ओलंपिक में रविवार को भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने अपने दमदार प्रदर्शन के दम पर ब्रिटेन को 3-1 के रौंदकर 49 साल बाद सेमीफाइनल में जगह पक्की कर ली। इसके बाद भारत की महिला हॉकी टीम ने भी शानदार प्रदर्शन करते हुए ऑस्ट्रेलिया जैसी मजबूत टीम को 1-0 से शिकस्त देकर सेमीफाइनल में जगह पक्की कर ली। बतादें महिला हॉकी टीम तीसरे ओलंपिक में हिस्सेदारी कर रही है। तीसरे ओलंपिक में ही इस टीम ने इतिहास रच दिया।

इससे पहले रियो ओलंपिक में भारतीय महिला हॉकी टीम 12वें स्थान पर थी जबकि 1980 में महिला हॉकी टीम चौथे स्थान पर रही। बता दें कि उस समय सेमाफाइनल मुकाबले नहीं खेले गए थे। पूल मैचों के आधार पर टॉप-3 टीमें तय की गई थीं।

ऑस्ट्रेलिया के साथ खेले गए मुकाबले में भारतीय महिला हॉकी टीम ने शुरुआत से जोरदार खेल दिखाया। पहले हाफ में दोनों टीमें गोल करने में नाकाम रहीं। 22वें मिनट में पेनाल्टी कार्नर पर गुरजीत कौर ने गोल करके भारतीय टीम को 1-0 की बढ़त दिला दी।

तीसरा हाफ भी गोल रहित रहा और भारतीय टीम 1-0 से आगे रही। चौथे क्वार्टर में ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों ने भी जोरदार प्रदर्शन करते हुए भारत पर कई जोरदार आक्रमण किए। इस दौरान ऑस्ट्रेलियाई टीम को कई पेनाल्टी कार्नर मिले लेकिन वे किसी भी मौके को भुना नहीं सके। इसके बाद फाइनल हुटर बजा और भारतीय महिला हॉकी टीम ने यह मुकाबला 1-0 से जीत लिया।

इसके पहले भारतीय महिला हॉकी टीम को लगातार तीन मैचों में हार का मुंह देखना पड़ा था। एक समय तो लग रहा था कि भारतीय टीम का ओलंपिक का सफर खत्म हो गया लेकिन इस टीम ने दिखा दिया कि हौसला हो तो मंजिलें दूर नहीं हो सकती। इसके बाद भारतीय टीम ने लगातार तीन मैच जीतकर मेडल की उम्मीद को बरकरार रखा है।

भारतीय टीम को नीदरलैंड ने 5-1 से, ब्रिटेन ने 4-1 से और जर्मनी से 2-0 से हार का सामना करना पड़ा था। इसके बाद भारतीय टीम ने पलटवार करते हुए आयरलैंड को 1-0 से, दक्षिण अफ्रिका को 4-3 से और ऑस्ट्रेलिया को 1-0 से मात देकर सेमीफाइनल में जगह बनाई है। अब भारत का मुकाबला 4 अगस्त को अर्जेंटीना से होगा।