ठाकुरगंज डबल मर्डर:पुलिस से घिरता देख आरोपी ने खुद को गोली से उडाया

लखनऊ । राजधानी लखनऊ के ठाकुरगंज इलाके में सगे भाइयों की हत्या के मुख्य आरोपी शिवम सिंह ने बुधवार को गोमतीनगर के विराम खंड इलाके में खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली.

वहीं एसएसपी कलानिधि नैथानी ने बताया के ठाकुरगंज के मुसाहिबगंज में 3 अक्तूबर की रात कैब चालक इमरान गाजी और उसके भाई अरमान की हत्या कर फरार शिवम सिंह और उमेश कुमार गौतम उर्फ चिन्ना के गोमतीनगर के विराम खंड के माकन 5/591 में छिपे होने की सूचना मिली थी.इसके बाद सीओ हजरतगंज साइबर सेल की टीम और एंटी डकैती सेल ने विरामखंड के उस मकान को घेरा लिया.

इस बीच थम तल पर छिपे शिवम सिंह को भनक लग गई.वहीं शिवम ने पुलिस से घिरता देख भागकर भीतर कमरे में दाखिल हो गया. पुलिस जब तक ऊपर पहुंचती अचानक गोली चलने की आवाज आई. तभी कमरे से शोर मचाता हुआ चीना बाहर की तरफ भागा. चीना ने बताया कि शिवम ने खुद को गोली मार ली.इसके बाद पुलिस ने चीना को दबोच लिया. कमरे में शिवम लहूलुहान पड़ा हुआ था. पास में ही तमंचा पड़ा हुआ था.

उधऱ दोहरे हत्याकांड के आरोपी द्वारा खुद को गोली से उड़ा लेने की सूचना पर लखनऊ के आईजी रेंज सुजीत पांडेय व पुलिस के अन्य अधिकारी आनन-फानन में मौके पर पहुंचे. चिन्ना से पूछताछ के साथ उसे ठाकुरगंज थाने भेजा. फोरेंसिक टीम बुलाकर छानबीन की.उसके बाद शिवम के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया.हालांकि आस-पास के लोग दबी जुबान में यह भी कह रहे हैं कि शिवम की हत्या हुई है. लेकिन पुलिस का दावा है कि उसने आत्महत्या की है.