T20 World Cup:भारत का विजयी आगाज, वर्ल्ड चैंपियन ऑस्ट्रेलिया को किया चित

महिला टी20 वर्ल्ड कप का आगाज इससे रोमांचक नहीं हो सकता था। एक तरफ प्रतिभाशाली खिलाड़ियों से सजी टीम इंडिया और दूसरी ओर चार बार की वर्ल्ड चैंपियन ऑस्ट्रेलिया । दोनों टीमों के बीच बीसवें ओवर तक चली रोमांच की बाजी। भला इससे बेहतर सौगात किसी क्रिकेट प्रशंसकों को और क्या ही चाहिए। पल-पल बदलते रुख के बाद आखिरकार टीम इंडिया ने गत चैंपियन ऑस्ट्रेलिया को 17 रन से हराकर टी20 वर्ल्ड कप में विजयी आगाज किया। भारत ने टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करते हुए चार विकेट पर 132 रन बनाए। जवाब में ऑस्ट्रेलिया की टीम 19।5 ओवर में 115 रन ही बना सकी। भारतीय टीम के लिए दीप्ति शर्मा ने जहां सबसे ज्यादा 49 रन बनाए, वहीं गेंदबाजी में पूनम यादव ने 4 विकेट लिए। पूनम को प्लेयर ऑफ द मैच भी चुना गया।
पूनम यादव ने पलट दिया पासा
भारत का 132 रन का स्कोर ऑस्ट्रेलिया के लिए बहुत ज्यादा नजर नहीं आ रहा था। खासकर एलिसा हीली ने ताबड़तोड़ अर्धशतक जड़कर मैच को ऑस्ट्रेलिया की जद में ला दिया था लेकिन यहीं से पूनम यादव का करिश्मा शुरू हुआ। 10वें ओवर में आईं पूनम ने अपने पहले ओवर में ही एलिसा को अपनी ही गेंद पर कैच किया। हीली ने 35 गेंदों पर 51 रन बनाए। इस ओवर में उन्होंने नौ रन दिए। इसके बाद अपने दूसरे ओवर में पूनम ने लगातार गेंदों पर रेचेल हेंस और एलिसा पैरी को पवेलियन भेजा। हेंस को तानिया भाटिया ने स्टंप किया, जबकि पैरी बोल्ड हुईं। हालांकि तानिया ने जेस जोनासेन का कैच छोड़ दिया, जिससे पूनम हैट्रिक पूरी नहीं कर सकीं। इस ओवर में उन्होंने सिर्फ 5 रन दिए। अपने तीसरे ओवर में पूनम ने पांचवीं गेंद पर जेसा जोनासेन को तानिया के हाथों कैच कराया। इस ओवर में सिर्फ एक रन बना। चौथे ओवर में पूनम ने चार रन दिए। इस तरह उन्होंने चार ओवर में 19 रन देकर चार विकेट हासिल किए।
सिर्फ पूनम यादव ही नहीं, इस मैच में अन्य भारतीय गेंदबाजों ने भी शानदार प्रदर्शन किया। शिखा पांडे ने 3।5 ओवर में 14 रन देकर तीन विकेट हासिल किए जबकि दीप्ति शर्मा ने भी 4 ओवर में महज 17 रन देकर बल्लेबाजों पर दबाव बनाया।
शेफाली और मंधाना ने चार ओवर में जोड़े 40 रन
इससे पहले, टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी के लिए उतरी भारतीय टीम को शेफाली वर्मा और स्मृति मंधाना की जोड़ी ने ताबड़तोड़ शुरुआत दिलाई। खासतौर पर शेफाली तो बेहद ही आक्रामक अंदाज में नजर आईं। उन्होंने तो दुनिया की नंबर एक गेंदबाज मेगान शूट के एक ओवर में चार चौके जड़कर 16 रन बना लिए। दोनों ने सिर्फ चार ओवरों में 40 रन जोड़ लिए। हालांकि इसी स्कोर पर स्मृति मंधाना जेसा जोनासेन की गेंद पर एलबीडब्‍ल्यू आउट हो गईं। उन्होंने 11 गेंदों में 2 चौकों की मदद से 10 रन बनाए। मंधाना के बाद जेमिमा रॉड्रिग्ज बल्लेबाजी के लिए उतरीं, लेकिन इस बीच शेफाली वर्मा एलिसा पैरी की गेंद पर सदरलैंड को कैच थमा बैठीं। आउट होने से पहले उन्होंने 15 गेंदों पर 5 चौके और 1 छक्के की मदद से 29 रन बनाए। कप्तान हरमनप्रीत कौर भी ज्यादा नहीं टिक सकीं और 5 गेंदों पर 2 रन बनाकर आउट हो गईं। उन्हें जोनासेन की गेंद पर हीली ने स्टंप आउट किया।
दीप्ति और जेमिमा ने संभाला मोर्चातीन विकेट 47 रन पर गिरने के बाद दीप्ति शर्मा और जेमिमा रॉड्रिग्ज ने मोर्चा संभाला। दोनों ने धीरे-धीरे रनगति को चलाए रखा और चौथे विकेट के लिए 53 रन जोड़ लिए। हालांकि जेमिमा 16वें ओवर की आखिरी गेंद पर किमिंस की गेंद पर एलबीडब्‍ल्यू आउट हो गईं। उन्होंने 33 गेंद की पारी में 26 रन बनाए। दिलचस्प बात है कि ये सभी रन उन्होंने भागकर बनाए। इसके बाद दीप्ति और वेदा कृष्‍णमूर्ति ने टीम का स्कोर 132 रनों तक पहुंचाया। वेदा ने 11 गेंदों पर 9 रन बनाए, जबकि दीप्ति ने टीम के लिए सर्वाधिक 49 रनों की पारी खेली। 46 गेंदों की अपनी पारी में उन्होंने 3 चौके भी लगाए।
अगली भिड़ंत 24 को बांग्लादेश से
ऑस्ट्रेलिया के बाद भारतीय टीम का अगला मैच 24 फरवरी को बांग्लादेश के खिलाफ होगा, जबकि उसके बाद टीम 27 फरवरी को न्यूजीलैंड से भिड़ेगी। वहीं श्रीलंका के खिलाफ टीम इंडिया 29 फरवरी को मैदान में उतरेगी।