टोक्यो ओलंपिकः पीवी सिंधु ने रचा इतिहास, 49 साल बाद सेमीफाइनल में पुरुष हॉकी टीम

रविवार टोक्यो ओलंपिक में भारत के लिए दोहरी कामयाबी लेकर सामने आया, पीवी सिंधु ने ब्रांज मेडल जीता तो 49 साल बाद भारत ओलंपिक सेमीफाइनल में पहुंचा
टोक्यो ओलंपिक में रविवार का दिन भारत के लिए बेहद खास रहा। रविवार को भारत की स्टार बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु ने इतिहास रचा। वह भारत की तरफ से लगातार दो ओलंपिक में मेडल जीतने वाली पहली महिला खिलाड़ी बन गईं जबकि दूसरी तरफ भारतीय पुरुष हाकी टीम में ब्रिटेन को 3-1 से रौंदकर 49 साल बाद सेमीफाइनल में प्रवेश किया जहां उसका मुकाबला विश्व चैंपियन बेल्जियम से होना है।
पीवी सिंधु ने भारत को गौरवान्वित किया
हालांकि भारत के लोगों को पीवी सिंधु से इससे ज्यादा की उम्मीद थी। ऐसा इसलिए कि उनका खेल इस ओलंपिक में शानदार था लेकिन चीन के खिलाड़ी ने अपना दमदार प्रदर्शन कर भारत की उम्मीदों को झटका दिया। खैर इससे कोई फर्क नहीं पड़ता पीवी सिंधु ने भारतीयों को निराश नहीं होने दिया और उन्होंने चीन की ही एक खिलाड़ी को सीधे सेटों में परास्त कर ब्रांज मेडल जीत लिया। इसी के साथ पीवी सिंधु लगातार दो ओलंपिक में मेडल जीतने वाली पहली भारतीय खिलाड़ी बनीं। इससे पहले पीवी सिंधु से रियो ओलंपिक 2016 में रजत पदक जीतकर भारत को गौरवान्वित किया था।
भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने भी रचा इतिहास
दूसरी तरफ भारतीय पुरुष हॉकी टीम का शानदार प्रदर्शन जारी है। रविवार को हुए ब्रिटेन के साथ हुए मुकाबले में भारत ने ब्रिटेन को 3-1 से रौंदकर 49 साल बाद सेमीफाइनल में जगह बनाई है। इससे पहले भारत ने 1948,1952, 1962 और 1972 के ओलंपिक में ब्रिटेन को हराया था।
टोक्यो में शानदार चल रहा पुरुष हॉकी का सफर
टोक्यो ओलंपिक में भारत का अब तक का सफर बेहद शानदार रहा। हालांकि ऑस्ट्रेलिया के हाथों भारत को 7-1 की करारी शिकस्त झेलनी पड़ी थी। भारत ने न्यूजीलैंड को 3-2 से हराकर अपना विजय अभियान शुरु किया था। भारत अर्जेंटीना को 3-1 से, स्पेन को 3-0 से और जापान को 5-3 से हराया है। भारत ने अपने ग्रुप नें पांच में से चार मैच जीते हैं और दूसरे स्थान पर है।