शाहीन बागः प्रदर्शनकारियों ने कहा हम अमित शाह से CAA पर चर्चा को तैयार, कब मिलेंगे गृह मंत्री

नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ बीते दो माह से दिल्ली के शाहीन बाग में प्रदर्शन किया जा रहा है। प्रदर्शनकारियों ने भी केन्द्र सरकार से वार्ता का रास्ता खुला रखा था और सरकार ने भी कहा था कि CAA पर वह किसी से भी चर्चा को तैयार हैं। अब शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों मे शनिवार को कहा कि वे गृह मंत्री अमित शाह से CAA पर वार्ता के लिए तैयार हैं।
CAA को लकर अमित शाह का बयान
शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों का यह बयान गृह मंत्री अमित शाह के उस बयान के बाद आया जिसमें उन्होंने कहा था कि भारत का कोई भी नागरिक संशोधन कानून से जुड़े मुद्दों पर बात करना चाहता है वह उनके ऑफिस में आकर बात कर सकता है। गुरुवार को दिल्ली में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान अमित शाह ने कहा था कि जो भी बात करना चाहता है उसे तीन दिन के भीतर समय देंगे।

हम CAA पर वार्ता के लिए तैयार, अब यह अमित शाह पर निर्भर है

अमित शाह के इस प्रस्ताव के बाद शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों ने शनिवार को कहा कि हम CAA पर बातचीत के प्रस्ताव को स्वीकार करते हैं। हम उनसे रविवार दो बजे दोपहर में मिलने को तैयार हैं। लेकिन उनसे मिलने के लिए हम कोई अप्वाइंटमेंट नहीं मांग रहे हैं। प्रदर्शनकारियों ने कहा हमारी तरफ से तय हो गया है कि हम उनसे मिलना चाहते हैं अब यह अमित शाह पर निर्भर करता है कि वह मिलते हैं या नहीं।
CAA पर भारत का कोई भी नागरिक मिल सकता है
ANI को दिए एक बयान में अमित शाह ने कहा था कि पूरे देश को नागरिकता संशोधन कानून से जुड़े मुद्दों पर चर्चा के लिए ाने और उनसे मिलने का न्यौता दिया है। इसलिए हम उनसे मिलने जा रहे हैं। हमारा कोई प्रतिनिधिमंडल नहीं है। कोई भी नागरिकता संशोधन कानून से जुड़ी शिकायत है वह हमसे मिल सकता है।
अमित शाह ने CAA का किया है पुरजोर समर्थन
अमित शाह लगातार हर मंच से CAA का समर्थन करते रहे हैं। उन्होंने कई मौकों पर कहा है कि चाहे कुछ भी हो जाए CAA निरस्त नहीं किया जा सकता है। उन्होंने कहा इसे लेकर विपक्ष द्वारा लोगों में भ्रम और झूठ फैलाया गया है। उन्होनें यह भी कहा है कि इस कानून से किसी भी भारतीय नागरिक की नागरिकता प्रभावित नहीं होगी।