सुरक्षा बलों ने जम्मू से 6.5 आईईडी किया बरामद, आतंकियों की रघुनाथ मंदिर उड़ाने की थी साजिश

सोहेल ने बताया कि उसे आईईडी लगाने के लिए उसे 3-4 जगह बताई गई थी, जिसमें रघुनाथ मंदिर, बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन और लखदाता बाजार शामिल थे, गिरफ्तार सोहेल ने बताया कि उसे पाकिस्तान से तीन जगहों पर ब्लास्ट के निर्देश मिले थे…
जम्मू में सुरक्षा बलों ने आतंकियों के एक बड़ी साजिश को नाकाम कर दिया। पुलवामा हमले की दूसरी बरसी पर आतंकियों की इस साजिश को पाकिस्तान में बैठे आतंक के पैरोकार दिशा निर्देश दे रहे थे। सुरक्षा बलों ने जम्मू में एक बस स्टैंड के पास से रविवार को 6.5 किलोग्राम विस्फोटक (आईईडी) बरामद किया। इस मामले में चंडीगढ़ में पढ़ने वाले नर्सिंग के एक छात्र सोहेल का गिरफ्तार किया गया है।
इस पूरी घटना के बारे में जानकारी देते हुए जम्मू जोन के आईजी मुकेश सिंह ने बताया-अनंतनाग और जम्मू पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली है। हम पिछले 2-3 दिनों से अलर्ट पर थे। उन्होंने कहा, ‘हमारे पास पहले से इनपुट था कि आतंकी पुलवामा हमले की बरसी पर किसी बड़े हमले को अंजाम देने की योजना बना रहे हैं।
पुलिस के अनुसार-सोहेल नाम के संदिग्ध युवक को जम्मू से गिरफ्तार किया गया है। सोहेल दक्षिण कश्मीर के पलवामा का रहने वाला है। आईजी ने बताया, सोहेल ने पूछताछ के दौरान खुलास किया है कि वह चंडीगढ़ मे पढ़ता है और उसे पाकिस्तान के अल बद्र तंजीम से आईईडी प्लांट करने के निर्देश मिले थे।
सोहेल ने बताया कि उसे आईईडी लगाने के लिए उसे 3-4 जगह बताई गई थी, जिसमें रघुनाथ मंदिर, बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन और लखदाता बाजार शामिल थे। अधिकरी ने कहा कि इनमें से किसी एक जगह पर व्यक्ति को आईईडी रखना था। इससे काफी बड़ा धमाका हो सकता था।
आईडी मुकेश सिंह ने बताया, इस साजिश की जानकारी चंडीगढ़ के काजी वसीम नाम के एक व्यक्ति को भी थी। उसे भी पकड़ लिया गया है, साथ ही आबिद नबी नाम के शख्स को भी पकड़ा गया है। आईजी ने बताया, सांबा जिले में कल रात ही 6 पिस्टल और 15 छोटे IED बरामद किए गए थे।
बता दें कि जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में दो साल पहले आज ही के दिन जैश ए-मोहम्मद के एक फिदायीन आतंकी ने सीआरपीएफ के काफिले पर हमला किया था। इस हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे। आतंकी पुलवामा हमले की साजिश को दोहराने की फिराक में थे लेकिन सजग सुरक्षा बलों ने इस नापाक साजिश को नाकार कर दिया।