वैज्ञानिकों का दावा- मास्क पहनने के बावजूद लोग संक्रमित हो रहे हैं, इन गलतियों को सुधारना होगा

Last Updated : by

17 Views
कोरोना वायरस की जद में पूरी दुनिया है। अब तक दुनिया भर में 82 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हो चुके हैं जबकि मौत का आंकड़ा पांच लाख के करीब पहुंच चुका है। कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए अभी तक सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क को कारगर माना जा रहा था, लेकिन वैज्ञानिकों ने दावा किया है कि मास्क पहनने के बावजूद लोगों में संक्रमण फैल रहा है।
एक रिसर्च में सामने आया है कि मास्क पहनने के बावजूद भी कोरोना संक्रमण होने का खतरा बना रहता है। रिसर्च के अनुसार अगर आप संक्रमित से 3 फीट से कम दूरी पर हैं और मास्क पहने हुए हैं तब भी आपके संक्रमित हो जाने की आशंका प्रबल है।
साइप्रस के यूनिवर्सिटी ऑफ निकोसिया के वैज्ञानिकों ने चेतावनी दी है कि मास्‍क पहनने और 3 फीट की दूरी रहने पर के बाद भी कोरोना वायरस शरीर में घुस जाने में सक्षम है। शोधकर्ताओं ने कहा कि अगर कोई कोरोना संक्रमित व्‍यक्ति लगातार खांस रहा है तो मास्‍क पहनने का कोई मतलब नहीं रह जाता है।
यूनिवर्सिटी के वैज्ञानिक तालिब बाउक और दिमित्रिस डिकाकिस ने चेतावनी दी है कि मास्क पहनने के बावजूद भी करीब 6 फीट की दूरी ज़रूरी है।
दिमित्रिस डिकाकिस ने कहा कि केवल मास्‍क कोरोना वायरस से संक्रमित होने से नहीं रोक सकता है। उन्‍होंने कहा कि कुछ ड्रापलेट मास्‍क शील्‍ड के अंदर घुस जाने में सक्षम हो हैं। यही नहीं पीड़‍ित मरीज के ड्रापलेट 4 फीट तक हवा में ट्रेवल करने में सक्षम हैं।
शोध में पता चला है कि मास्‍क हवा में पाए जाने वाले कोरोना वायरस के ड्रापलेट के संक्रमण को कम कर देता है लेकिन पूरी तरह से उसका खात्‍मा नहीं कर पाता। हालांकि बिना मास्‍क के ड्रापलेट करीब 6 फीट की दूरी तक चला जाता है।