राहुल गांधी फिर बन सकते हैं कांग्रेस अध्यक्ष , दिल्ली कांग्रेस ने पारित किया प्रस्ताव

लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की हार की जिम्मेदारी लेते हुए कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने अध्यक्ष पद छोड़ दिया था। अध्यक्ष पद छोड़ने के साथ ही उन्होंने कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं को आड़े हाथों लिया था। उन्होंने कहा था, चुनाव में ये लोग अपनी जिम्मेदारियां नहीं निभाते हैं। इन्हें भी आगे आकर चुनाव में लोगों के बीच आकर अपनी बातें और कांग्रेस के बारे में बताना चाहिए। लेकिन इन नेताओं ने अपनी जिम्मेदारियों से मुंह मोड़ लिया था। इसके बाद उन्होंने पद त्याग दिया था।
उस दौरान उन्होंने कहा था कि अब कांग्रेस और उनके परिवार से कोई सदस्य कांग्रेस अध्यक्ष पद पर नहीं बैठेगा। उनके पद त्यागने के बाद सोनिया गांधी को कांग्रेस का कार्यकारी अध्यक्ष बना दिया गया। अब एक बार फिर कांग्रेस के तमाम नेता राहुल गांधी को अध्यक्ष बनाने की जिद कर रहे हैं।
कांग्रेस के अधिकांश नेताओं की जिद है कि राहुल गांधी को ही कांग्रेस की कमान संभालनी चाहिए। इसे लेकर दिल्ली कांग्रेस ने राहुल गांधी को तत्काल अध्यक्ष बनाने का प्रस्ताव पारित कर दिया है। इसके पहले कांग्रेस की 22 जनवरी की कार्यकारीणी के बैठक में कहा गया था कि नए अध्यक्ष का चुनाव पांच राज्यों में होने वाले चुनाव के बाद 21 जून को किया जाएगा।
दरअसल दिल्ली प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अनिल चौधरी ने वर्तमान राजनीतिक हालातों को देखते हुए कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं की एक बैठक बुलाई थी। इस बैठक में कांग्रेस की भावी रणनीति पर चर्चा के साथ राहुल गांधी को दोबारा कांग्रेस अध्यक्ष पद सौंपने का प्रस्ताव रखा गया था। इस दौरान अनिल चौधरी ने कहा, राहुल गांधी ने अपनी नेतृत्व क्षमता कई बार दिखाई है। कांग्रेस कार्यकर्ताओं को प्रेरित करने वाला कांग्रेस में एक ही सदस्य है और वह हैं राहुल गांधी। उन्होंने कहा राहुल गांधी ने अभी तक जो कुछ कहा है वह सही हो रहा है। इसलिए उन्हें दोबारा कांग्रेस का अध्यक्ष बनाना चाहिए।
दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष अनिल चौधरी की तरफ से बुलाई गई इस बैठक में तीन प्रस्ताव पारित किए गए। इस प्रस्ताव में राहुल गांधी को दोबारा कांग्रेस का अध्यक्ष बनाया जाए। इसके अलावा केन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह और दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल के इस्तीफे का भी प्रस्ताव सर्वसम्मति से पारित किया गया। बैठक में केन्द्र सरकार के कृषि कानूनों के खिलाफ निंदा प्रस्ताव भी पारित किया गया।