प्रियंका का मोदी सरकार पर हमला, कहा- ‘जो भगवान का सौदा करता है, वो इंसान की कीमत क्या जाने’

कांग्रेस महासचिव और उत्तर प्रदेश की प्रभारी प्रियंका गांधी ने सोमवार को बिजनौर में किसान महापंचायत को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने किसानों के गन्ना भुगतान को लेकर केन्द्र और राज्य की भाजपा सरकार पर जमकर हमला बोला। उन्होंने शायराना अंदाज में सरकार पर हमला बोला, कहा- जो भगवान का सौदा करते हैं वो इंसान की कीमत क्या जानें। जो गन्ने की कीमत दे न सका वह जान की कीमत क्या जाने।
किसान महापंचात को संबोधित करते हुए उन्होंने मोदी सरकार को निशाने पर लिया। प्रियंका ने कहा, पीएम मोदी ने 16 हजार करोड़ घूमने के लिए दो-दो हवाई जहाज खरीदे। 16 हजार करोड़ में एक-एक किसान का गन्ना बकाए का भुगतान हो जाता। उन्होंन कहा पीएम के पास घूमने के लिए पैसा है लेकिन किसानों को देने के लिए नहीं है। कृषि कानूनों को लेकर प्रियंका ने कहा कि इस कानून के जरिए पूंजीपति जमाखोरी करेंगे और किसानों को न्यूनतम समर्थन मूल्य भी नहीं मिलेगा।
किसानों को संबोधित करते हुए प्रियंका ने कहा, मै यहां आपको भाषण सुनाने नहीं आई हूं, मै आपसे बात करने आई हूं। कभी-कभी सोचती हूं नरेन्द्र मोदी को जनता ने क्यों दो बार चुना? जनता को भरोसा था वह कुछ अच्छा करेंगे। उनका नारा भी था अच्छे दिन आएंगे, लेकिन ऐसा हुआ नहीं।
प्रियंका ने किसानों से सवाल किया, क्या गन्ने के दाम बढ़े, कोई दाम नहीं बढ़ा, गन्ना भुगतान नहीं हुआ, किसानों को देने के लिए इनके पास पैसे नहीं हैं, जो भरोसा लोगों ने किया था वो टूट गया। इस दौरान उन्होंने शायराना अंदाज में पीएम मोदी पर निशाना साधा। ‘भगवान का सौदा करता है, इंसान की कीमत क्या जाने? जो गन्ने की कीमत दे न सका वो जान की कीमत क्या जाने?’
कृषि कानूनों को लेकर प्रियंका ने कहा, ये कानून जमाखोरी को बढ़ावा देगा, न्यूनतम समर्थन मूल्य नहीं मिलेगा इसके अलावा आप अदालत तक नहीं जा पाएंगे। उन्होंने कहा, सरकार ने ऐसा कानून बनाया है कि कोई कानून ही लागू नहीं होगा। उन्होंने कहा, ये देश अंधा नहीं है, हर देशवासी देख रहा है।
पीएम मोदी अपने पूंजीपति मित्रों को देश सौंप रहे हैं। आप सोच सकते हैं, ऐसी सरकार आपका भला कैसे करेगी। प्रधानमंत्री अमेरिका और चीन जा सकते हैं लेकिन अपने घर से दो किलोमीटर दूर किसानों से नहीं मिल सकते हैं। सोचिए ऐसी सरकार किसानों, गरीबों और आम जनता का भला कर पाएगी।