यूपी के इन नए इलाकों में भी किसान आंदोलन तेज करने की तैयारी, भाकियू ने तैयार की योजना

केन्द्र सरकार के कृषि कानूनों के खिलाफ चल रहे किसान आंदोलन का दायरा अब व्यापक हो चला है। किसान आंदोलन अब पश्चिमी यूपी की सीमाओं को लांघकर पूर्वांचल और अवध तक पहुंचने लगा है। किसान संगठन अब यहां के नए इलाकों में महापंचायत करने की तैयारी में हैं। इसे लेकर भारतीय किसान यूनियन नें 24 फरवरी को बाराबंकी और 25 फरवरी को बस्ती में महापंचायत आयोजित करने की घोषणा की है।
बाराबंकी के हैदरगढ़ रोड स्थित हरख चौराहे पर किसान महापंचायत में भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष नरेश टिकैत शामिल होंगे। इसके बाद 25 फरवरी को बस्ती के मुण्डेरवा में भी किसान महापंचयत में नरेश टिकैत बतौर मुख्य अतिथि शामिल होंगे।
किसान आंदोलन के समर्थन में बुधवार को रोहतक के जाट भवन में विभिन्न खाप पंचायतों के प्रतिनिधियों की एक महत्वपूर्ण बैठक हुई। इस दौरान किसानों को लेकर दिए गए हरियाणा के कृषि मंत्री जेपी दलाल के बयान की निंदा की गई।
बैठक में खाप पंचायतों ने जेपी दलाल के सामाजिक बहिष्कार का भी फैसला लिया। गौरतलब हो कि कृषि मंत्री ने अपने एक बयान में कहा था कि किसानों की मौत बीमारी की वजह से हो रही है।
खाप पंचायतों की बैठक में फैसला लिया गया कि संयुक्त किसान मोर्चा जो भी फैसला लेगा, खाप पंचायतें उसी का समर्थन करेंगी। इसके अलावा कोई भी खाप पंचायत अपनी तरफ से कोई भी निर्णय नहीं लेंगी।