पीएम मोदी की अपीलः आप जहां हैं, कुछ दिन वहीं रहिए, खुद भी सुरक्षित रहिए, दूसरों को भी सुरक्षित रखिए

कोरोना वायरस की जंग के लिए देशवासियों से एक बार फिर पीएम मोदी ने अपील की है। शनिवार को उन्होंने कहा, रेलवे स्टेशन पर भीड़ बढ़ाकर हम लोग अपने स्वास्थ्य से खिलवाड़ कर रहे हैं। उन्होंने लोगों से अपील करते हुए कहा जो लोग जहां भी हैं अपने घरों में रहें, वे अभी कुछ दिन वहीं ठहरें, अपने मूल निवास की तरफ प्रस्थान न करें। अगर आप ऐसा करने की सोच रहे हैं तो कृपया इस विचार को कुछ दिनों के लिए त्याग दें। ऐसा करने से आप लोगों के साथ अपनी भी सुरक्षा के दायित्व को निभा पाएंगे और दूसरों के लिए मुश्किलें नहीं बढ़ाएंगे।
कोरोना की जांच प्रोटोकॉल के तहत
इसके पहले स्वास्थ्य मंत्रालय ने एक एडवाइजरी जारी करते हुए कहा था कि लोग महज फैशन के तौर पर या आत्मविश्वास बढ़ाने के लिए कोरोना की जांच न कराएं। लोगों की जांच प्रोटोकॉल के तहत ही की जाएगी। यह बातें स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने कही है।
सरकार ने तय किए मास्क और सैनिटाइजर के दाम
लोगों के दिए अपने संदेश में उन्होंने कहा, केन्द्र सरकार द्वारा मास्क-सैनिटाइजर के दाम तय कर दिए हैं। 2 प्लाई मास्क की कीमत 8 रु. प्रति मास्क और 3 प्लाई मास्क की कीमत 10 रु. प्रति मास्क से ज्यादा नहीं होगी। वहीं, सैनिटाइजर की 200 एमएल की बोतल की कीमत 100 रु. से ज्यादा नहीं होगी। ये कीमतें 30 जून 2020 तक पूरे देश में लागू रहेंगी।
सैनिटाइजर का उत्पादन बढ़ाने का निर्देश
इस दौरान उन्होंने कहा, केन्द्र सरकार मास्क और सैनिटाइजर के उत्पाद को बढ़ाने की दिशा में काम कर रही है। राज्य सरकारों से कहा गया है कि डियोड्रेंट बनाने वाली निर्माताओं को भी सैनिटाइजर का उत्पादन करने की अनुमति दी जाए। वहीं अल्कोहल इंडस्ट्रीज को इथाइल अल्कोहल का उत्पादन बढ़ान के लिए कहा गया है।
1000 स्थानों पर क्रिटिकल केयर मैनेजमेंट की ट्रेनिंग, 111 लैब शुरु
संयुक्त सचिव ने बताया कि वीडियो कॉन्फ्रेंस से 1,000 स्थानों पर क्रिटिकल केयर मैनेजमेंट की ट्रेनिंग दी गई है ताकि हालात बिगड़ने पर उनसे निपटा जा सके। वहीं, देश के अलग-अलग हिस्सों में 111 लैब शुरू हो चुकी हैं। उन्होंने कहा कि प्रायवेट लैब को लेकर भी हम निर्णायक स्थिति पर पहुंच चुके हैं। शाम तक ऑर्डर जारी किया जाएगा।
इटली से आए 262 छात्रों को किया गाय क्वारैंटाइन
उन्होंने बताया कि देश में मौजूद क्वारैंटाइन सेंटर में 1600 भारतीय के अलावा अन्य देशों के नागरिक भी भर्ती किए गए। आज इटली के 262 लोगों को क्वारैंटाइन किया गया। इनमें ज्यादातर छात्र हैं। इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च ने भी मौजूदा हालात पर नजर बनाकर रखी है।
देश में तेजी से पांव पसार रहा कोरोना वायरस
देश में कोरोनावायरस का पहला मामला 30 जनवरी को केरल में सामने आया था। उसके बाद 1 और 2 फरवरी को भी केरल में 1-1 मरीज मिला। ये तीनों मरीज कुछ ही समय में ठीक हो गए। इसके बाद पूरे महीने देशभर में एक भी कोरोनावायरस का नया मामला नहीं आया। लेकिन, 2 मार्च के बाद से मामलों की संख्या दिनोंदिन बढ़ती गई। 2 मार्च को कोरोनावायरस के 5 मामले (इसमें 3 केरल के केस, जो अब ठीक हो चुके हैं) थे।
इसके बाद 21 मार्च तक 318 नए मामले सामने आए। पिछले 10 दिन में ही 11 मार्च से 21 मार्च के बीच देश में कोरोना के मामलों में 450% की बढ़ोतरी हुई है। 11 मार्च को 71 मामले थे और 21 मार्च की शाम 7:30 बजे तक कुल 321 केस हो गए। संक्रमण के चलते देश में 4 लोगों ने अपनी जान गंवाई है। अब तक सबसे ज्यादा 64 मामले महाराष्ट्र में आए हैं। उसके बाद केरल (40 मामले) और दिल्ली (26 मामले) हैं। अभी तक जितने भी लोग कोरोना से संक्रमित मिले हैं, उनमें से ज्यादातर की ट्रैवल हिस्ट्री रही है यानी ये लोग हाल में विदेश से लौटे थे।