पीएम मोदी बोलेः आम लोगों के पैसे और पसीने से तैयार सार्वजनिक संपत्तियों का नुकसान गलत

पीएम मोदी ने डेडिकेटेड ईस्टर्न फ्रैट कॉरिडोर का किया उद्घाटन
सार्वजनिक संपत्तियों के नुकसान पर बरसे पीएम मोदी
आंदोलन के नाम पर तोड़फोड़ अक्षम्य
सार्वजनिक संपत्तियों में किसी दल या नेता का पैसा नहीं लगा
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आंदोलन के नाम पर सार्वजनिक संपत्तियों का नुकसान पहुंचाने वालों पर जमकर बरसे। उन्होंने कहा यह कैसा आंदोलन जिसमें सार्वजनिक संपत्तियों को नष्ट किया जा रहा है। उन्होंने कहा, इन संपत्तियों में किसी राजनीतिक दल, सरकार या नेता का पैसा नहीं लगा है। इसमें गरीब और आम लोगों की गाढ़ी कमाई का पैसा लगा है। पीएम मोदी ने ये बातें 5 हजार करोड़ की लागत से तैयार डेडिकेटड ईस्टर्न फ्रैट कॉरिडोर के उद्घाटन के अवसर पर कही। बतादें ये कॉरिडोर 351 किमी लंबा है। इसके एक खंड का पीएम मोदी मे मंगलवार को उद्घाटन किया।
कानपुर के न्य भाऊपुर से न्यू खुर्जा के बीच मंगलवार से शुरु हुए खंड पर पहली मालगाड़ी को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इस दौरान अपने संबोधन में पीएम मोदी ने कहा, यह आत्मनिर्भर भारत की पहल है। प्रयागराज में मंगलवार से शुरु हुए ऑपरेशन कंट्रोल सेंटर और डेडिकेटेड फ्रैट कॉरिडोर को पीएम मोदी ने आत्मनिर्भर भारत की बड़ी उपलब्धि बताया।
उद्धाघटन सत्र के बाद अपने संबोधन के दौरान उन्होंने इस परियोजना के विलंब को लेकर कांग्रेस को आड़े हाथों लिया। उन्होंने कहा, इस परियोंजना को 2006 में मंजूरी मिली थी लेकिन इस परियोजना को लेकर 2014 तक कोई काम नहीं किया गया। उन्होंने कहा कांग्रेस शासन में ये योजना अटक, लटक और भटक गई थी।
उन्होंने कहा इस परियोजना को लेकर जब फाइलें खंगाली गईं तब तक इसका बजट कई गुना हो गया। उन्होंने कहा कई राज्यों से वार्ता के उपरान्त 1100 किमी की लाइनें बिछाने का काम पूरा किया जाएगा। उन्होंने कहा इस परियोजना के पूरा होने के बाद पैसेंजर ट्रेने अपने सही समय पर संचालित हो सकेंगी।
पीएम मोदी ने कहा, ये कॉरिडोर मालगाड़ियों के लिए विशेष रेल लाइने हैं। इस पर निर्बाध गति मालगाड़ियां एक स्थान से दूसरे स्थान तक दौड़ सकेंगी। उन्होंने कहा इससे व्यापार, खेती, उद्योग को लाभ मिलेगा। इस दौरान उन्होंने कहा रविवार को सौवीं किसान रेल का संचालन शुरु किया गया। उससे भी व्यापार को रफ्तार मिलेगी और कृषि उपज एक स्थान से दूसरे स्थान तक तेजी से पहुंचाया जा सकेगा।
डीएफसी से राज्य की औद्योगिक रफ्तार बढ़ेगीः सीएम योगी
डेडिकेटेड ईस्टर्न फ्रैट कॉरिडोर (डीएफसी) को लेकर उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा, यह यूपी के लिए सौभाग्य की बात है। उन्होंने कहा इस नए रूप पर यूपी से ही मालगाड़ियों के संचालन की शुरुआत हो रही है। यूपी में ही कंट्रोल रूम बनाया गया और इसका जंक्शन भी यूपी में ही होगा। उन्होंने कहा इससे यहां के लोगों को नए अवसर मिलेंगे। उन्होंने कहा, यूपी के उत्पादक देश के दो बड़े बंदरगाहों कोलकाता और मुंबई से सीधे जुड़ जाएंगे। इससे राज्य की औद्योगिक गतिविधियों को रफ्तार मिलेगी।