बोले पीएम मोदीः अगर मैने कहा होता सारे हिंदू एक हो जाओ,भाजपा को वोट,फिर क्या होता…

पश्चिम बंगाल में राजनीति के विविध रूप सामने आए हैं। राजनीति का हर रंग देखा जा रहा है। जाति, धर्म, भाषा, क्षेत्रवाद सब कुछ। व्यक्तिगत हमले तो आम हो गए। राजनीतिक चतुराई भी खूब देखने को मिली। कभी मुस्लिम वोटों पर भरोसा जताने वाली ममता बनर्जी अब जय श्री राम, चंडी पाठ तो कभी हरे राम हरे कृष्ण बोलती दिखाई देती हैं तो वहीं भाजपा नेता मुस्लिम तुष्टिकरण, कानून व्यवस्था और ममता के भगवानमय हो जाने पर सवाल खड़ा करते नजर आ रहे हैं। इस बार पीएम मोदी की राजनीतिक चतुराई सामने आई है।
पश्चिम बंगाल के कूच बिहार में एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए उन्होंने वह बात कही जिसे लेकर उन्हें चुनाव आयोग के गुस्से का शिकार होना पड़ सकता था। उन्होंने अपनी बात भी कही और चुनाव आयोग के नियमों का उल्लंघन भी नहीं किया।
पीएम मोदी ने कहा, बंगाल में भाजपा की लहर जारी है। दो साल पहले तृणमूल कांग्रेस ने यहां भाजपा की रैलियों में अड़ंगा लगाया था लेकिन अब टीएमसी कहीं नजर नहीं आ रही है। अपने संबोधन के दौरान उन्होंने हिंदू वोटरों को लेकर कहा, अगर हमने हिंदूओं को एक हो जाने की अपील की होती तो अब तक चुनाव आयोग का नोटिस आ गया होता।
इस तरह पीएम मोदी ने हिंदू मतों को एक होने की बात भी कह दी और चुनाव आयोग के हंटर से भी अपने को बचा लिया। ममता बनर्जी को निशाने पर लेते हुए पीएम मोदी ने कहा, जिस आयोग ने आपको दो बार सीएम बनाया अब आपको उसी से दिक्कत होने लगी, आपकी ये दिक्कत दर्शाती है कि आप चुनाव हार चुकी हैं।
इस दौरान पीएम मोदी ने ममता बनर्जी पर हमलावर होते हुए कहा, दीदी आपको रोज नंदीग्राम जीतने का प्रमाण देना पड़ रहा है। लेकिन जिस दिन आपने नंदीग्राम में पोलिंग बूथ पर खेला किया, जो बाते कहीं उसी दिन देश ने मान लिया आप चुनाव हार गई हैं।
ईवीएम पर सवाल उठाने पर पीएम ने कहा, जिस ईवीएम ने वाम के शासन को उखाड़ फेकने में आपकी मदद की, बंगाल के नागरिकों की इच्छा का आदर ईवीएम मशीन खुद करती है, एक-एक नागरिक की इच्छा ईवीएम में कैद होती है। आज आपको उस ईवीएम से भी समस्या होने लग गई। लेकिन यहां शांतिपूर्ण मतदान हो रहा है, और दीदी आप परेशान हो, आप गर्व नहीं कर रही हो, ये ही बताता है कि आप चुनाव हार रही हो।
प्रधानमंत्री ने कहा कि आप एक राज्य की सीएम हैं, दो चरण का चुनाव हो चुका है, बहुत शांतिपूर्ण मतदान हुआ। करीब 80 प्रतिशत से ज्यादा वोट पड़े। मैं भी गुजरात में सीएम था,अगर इतना वोटिंग शांतिपूर्ण होती थी, तो मैं गर्व से कहता था कि इतना ज्यादा मतदान शांति से हुआ है।
प्रधानमंत्री ने कहा कि भाजपा की रैली में भारी संख्या में लोग आ रहे हैं, बहनें-बेटियां आ रही हैं, लेकिन दीदी कहती हैं आप लोग पैसे लेकर यहां आते हैं। बंगाल की ईमानदार जनता पर दीदी का ये संगीन आरोप दिखाता है कि वो चुनाव हार चुकी हैं।
मोदी ने कहा कि पश्चिम बंगाल में डबल इंजन की सरकार के अभाव से कितनी परेशानी हो रही है, ये कूच बिहार से बेहतर कौन समझ सकता है। यहां स्वास्थ्य सुविधाओं का अभाव है, लेकिन दीदी को इससे कोई फर्क नहीं पड़ता। दीदी तो केंद्र सरकार की स्वास्थ्य योजनाओं पर भी ब्रेक लगा देती हैं। हमारी बहनों का बहुत बड़ा समय पानी के इंतजाम में लग जाता है, गंदे पानी से बच्चे बीमार होते हैं।
लेकिन दीदी ने क्या किया? केंद्र सरकार ने हर घर पाइप से जल पहुंचाने की एक बहुत बड़ी योजना पूरे देश में शुरु की है। लेकिन पश्चिम बंगाल में नल से पानी पहुंचाने के लिए जो करोड़ों रुपये भेजे थे, वो भी दीदी तिजोरी में रखकर बैठ गईं। नारायणी सेना बटालियन को लेकर जो भ्रम टीएमसी फैला रही है, वो भी 2 मई के बाद दूर हो जाएगा।