इस देश में लॉकडाउन का उल्लंघन करने वालों को गोली मारने आदेश

फिलीपींस में लॉकडाउन तोड़ने वालों को गोली मारने का अदेश
कोरोना वायरस से पूरी दुनिया हलकान है। कोरोना वायरस ने पूरी दुनिया में मौत का तांडव मचा रखा है। दुनिया भर में 10 लाख से ज्यादा लोग कोरोना वायरस के संक्रमण से ग्रसित हैं और अब तक 53 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। कोरोना के संक्रमण से निपटने के लिए कई देशों में लॉकडाउन है। लॉकडाउन के बावजूद लोग मानने को तैयार नहीं, कोरोना से बेखौफ वे घर से बाहर घूमने निकल जा रहे हैं। उनकी इस हरकत से संक्रमण के फैलने का खतरा बढ़ जाता है। इसे देखते हुए एक देश ने सेना को आदेश जारी कर दिया है कि जो भी लॉकडाउन का उल्लंघन करे उसे तत्काल गोली मार दी जाए।
कोरोना के कहर से यूरोप और अमेरिका में हाहाकार
कोरोना वायरस का कहर सबसे ज्यादा उन देशों पर टूटा है जो उच्च स्वास्थ्य सुविधाओं के लिए जाना जाता है। उन देशों में संक्रमित सबसे ज्यादा पाए गए और मौतें भी सबसे ज्यादा हुई हैं। इटली, स्पेन, जर्मनी, फ्रांस, साउथ अफ्रिका, जापान आदि तमाम ऐसे देश हैं जहां कोरोना का प्रकोप सबसे ज्यादा है। इन देशों की ऐसी हालत देखकर कई देश अपने यहां लॉकडाउन कर रखा है। बता दें अभी तक कोरोना वायरस के निपटने की कोई वैक्सीन या दवा का इजाद नहीं हो पाया है। इसे रोकने का सबसे कारगर हथियार लॉकडाउन है लेकिन लोग पालन करते नहीं दिख रहे हैं।
फिलीपींस के राष्ट्रपति का बड़ा बयान
लेकिन अब फिलपींस ने लॉकडाउन का पालन कराने का नया तरीका इजाद किया है। यहां के लोगों को लॉकडाउन तोड़ने पर जान तक गंवानी पड़ सकती है। फिलीपींस के राष्ट्रपति रोड्रिगो दुतेर्ते ने एक आदेश सेना को दिया है। इस आदेश के अनुसार जो फिलीपींस में जो भी लॉकडाउन का उल्लंघन करता दिखे उसे तत्काल गोली मार दी जाए। इस बात का खुलासा खुद फिलीपींस के राष्ट्रपति ने किया है।
लॉकडाउन का उल्लंघन करने वालों को गोली मार दोः राष्ट्रपति रोड्रिगो दुतेर्ते
उन्होंने कहा, हालात और खराब हो रहे हैं। मैं आपको फिर से कह रहा हूं कि समस्या की गंभीरता को समझें और मेरी बात सुनें। पुलिस और सेना को मेरा आदेश है कि अगर कोई आपके काम में परेशानी खड़ा करता है, बेवजह लॉकडाउन के नियमों का उल्लंघन करता है, आपसे लड़ाई करता है, आपको लगता है कि आपकी जान खतरे में है तो उन्हें गोली मार दें। समझ गए आप? मौत। मैं आपको परेशानी पैदा करने नहीं दूंगा। आपको दफना दूंगा। फिलीपींस में अभी तक कोरोना से 96 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 2,311 मामलों की पुष्टि हुई है।
लोग लॉकडाउन तोड़कर सडकों पर उतरे थे
फिलीपींस के राष्ट्रपति रोड्रिगो दुतेर्ते का ये बयान उस घटना के बाद आया जब मनीला में पुलिस और आम जनता के बीच भिड़ंत हो गई। रिपोर्ट के अनुसार मनीला में लोग लॉकडाउन के बेफिक्र सड़कों पर उतरे थे। ये लोग सरकार के खाद्य वितरण नियमों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे थे। दुतेर्ते ने कहा कि कोरोना से लड़ने के लिए यह महत्वपूर्ण है कि हर कोई सहयोग करे, क्योंकि अधिकारी संक्रमण धीमा करने और देश की नाजुक स्वास्थ्य हालत को सुधारने में लगे हैं।
आप सब डॉक्टर्स और मेडिकल स्टाप के साथ सहयोग करेंः राष्ट्रपति
राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में राष्ट्रपति दुतेर्ते ने कोरोना संक्रमितों के इलाज में लगे डॉक्टर्स और मेडिकल स्टाफ के साथ हुई अप्रिय घटनाओं का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य कर्मियों के साथ इस तरह का व्यवहार बिल्कुल बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।
राष्ट्रपति का आशय किसी को तत्काल गोली मारने का नहीं
हालांकि अब दुतेर्ते के बयान का चौतरफा विरोध होने लगा है। मानवाधिकार से जुड़े संगठनों का कहना है कि राष्ट्रपति हिंसा को बढ़ावा दे रहे हैं। यह मानवता के नाम पर प्रहार है। इस फैसले को तत्काल वापस लेना चाहिए। मानवाधिकार संगठनों के विरोध को देखते हुए नेशनल पुलिस चीफ ने सफाई दी है। उनका कहना है कि हर कदम कानून के दायरे में रहकर उठाए जाएंगे। राष्ट्रपति के कहने का आशय किसी को गोली मारने का नहीं है वह मामले की गंभीरता का अहसास कराना चाहते हैं।