पूर्व सीएम एन डी तिवारी का 93 वर्ष की आयु में निधन

दिल्ली ।  कांग्रेश के वरिष्ठ नेता व यूपी -उत्तराखंड में तीन बार सीएम रह चुके नारायण दत्त तिवारी (एनडी तिवारी) का गुरुवार को निधन हो गया। संयोग से आज ही उनका जन्मदिन था।

उन्होंने 93 वर्ष की आयु में दिल्ली के एक निजी अस्पताल में अंतिम सांस ली । वे लंबे समय से बीमार चल रहे थे। वहीं उनकी अचानक मृत्यु से पूरी राजनीतिक हलको में शौक का माहौल है।

गौरतलब है कि एनडी तिवारी का जन्म नैनीताल के बलौटी गांव में 14 अक्टूबर 1925 को हुआ था। शुरुआती पढ़ाई के बाद वे इलाहाबाद यूनिवर्सिटी गए, जहां से उन्होंने राजनीति शास्त्र में एमए और फिर एलएलबी की। वह 1947 में इलाहाबाद यूनिवर्सिटी छात्र संघ के अध्यक्ष चुने गए। 1947 से 1949 तक वे ऑल इंडिया स्टूडेंट कांग्रेस के सचिव रहे।

एनडी तिवारी पहले ऐसे राजनीतिज्ञ थे, जो दो राज्यों में मुख्यमंत्री बनाए गए। 1976-77, 1984-85, 1988-89 तक वे उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बने। तिवारी 2002-2007 तक उत्तराखंड के सीएम रहे।एनडी तिवारी ने 1954 में सुशीला तिवारी से विवाह किया। 14 मई 2014 को उन्होंने उज्ज्वला तिवारी से 88 साल की आयु में शादी की। एनडी तिवारी उज्ज्वला के बेटे रोहित शेखर के जैविक पिता थे।