नक्सलियों ने भेजा वॉट्सऐप मैसेज, कहा – लापता जवान हमारे पास, हम उन्हें कोई नुकसान नहीं पहुंचाएंगे

छत्तीसगढ़ के बीजापुर और तर्रेम के बीहड़ों में सुरक्षा बलों और नक्सलियों के साथ हुई मुठभेड़ में 23 जवानों की मौत हो गई तथा कई जवान गंभीर रूप से घायल हो गए थे। इस बीच कई जवानों के लापता होने की खबर सामने आई थी। 3 अप्रैल की इस घटना के बाद सोमवार को नक्सलियों ने वॉट्सऐप मैसेज भेज कर कहा है कि सुरक्षा बल का लापता जवान उनके पास है लेकिन हम उसे किसी प्रकार का कोई नुसकान नहीं पहुंचाएंगे, वह पूरी तरह से सुरक्षित है।
कोबरा बटालियन के इस जवान का नाम राकेश्वर सिंह मनहास है। वे जम्मू-कश्मीर के निवासी हैं। बीजापुर एसपी कमल लोचन ने इस जवान की लोकेशन नहीं मिलने की बात कही थी।
नक्सलियों से मुठभेड़ के दौरान 23 जवान शहीद हुए थे। इनमें से 20 के शव नहीं मिल पाए थे। एयरफोर्स की मदद से 20 जवानों के शव रिकवर किए गए थे। एक जवान लापता था।
घायल ASI आनंद कुसाम ने बताया कि हमारे साथ 450 जवानों की पार्टी थी। जिस ऑपरेशन के लिए भेजा गया था, उसे खत्म कर लौट रहे थे।
जब ऑपरेशन के लिए गए थे, तब कोई नक्सली हलचल नहीं थी। लौटे तो करीब 700 नक्सलियों ने घेरकर फायरिंग शुरू कर दी। सुबह 11 बजे मुठभेड़ शुरू हुई जो दोपहर 3 बजे तक चलती रही।