पीएम पद के लिए देशवासियों की पहली पसंद मोदी, 26 फीसदी लोगों ने राहुल गांधी को माना योग्य

ये पीएम मोदी का ही करिश्मा है कि उन्होंने अभी तक भाजपा को संभाल रखा है। भाजपा मुख्यमंत्रियों और सांसदों के स्तर पर पर सत्ता विरोधी लहर के कुंद होने का बड़ा कारण भी पीएम मोदी ही हैं। लोकप्रियता के मामले में पीएम मोदी अपने प्रतिद्वद्वियों से कहीं आगे हैं। तभी तो देश के 59.22 फीसदी लोगों की पीएम के रूप में मोदी पहली पसंद बने हैं। इसके इतर कांग्रेस जिसे पीएम का सबसे योग्य उम्मीदवार समझती है राहुल गांधी को देश के मात्र 25.62 फीसदी लोगों ने योग्य माना है।
आइएएनएस सी-वोटर के स्टेट सर्वे में यह बात सामने आई है कि ओडिसा और हिमाचल के 80 फीसदी से अधिक लोग पीएम मोदी को प्रधानमंत्री के रूप में पसंद करते हैं जबकि राहुल गांधी को 7 फीसदी और हिमाचल में 10 फीसदी लोगों ने योग्य माना। उत्तर प्रदेश में 56.21 लोगों की पहली पसंद पीएम मोदी है जबकि राहुल गांधी को 29.48 फीसदी लोग पीएम के रूप में देखना चाहते हैं।
पीएम मोदी के सामने राहुल गांधी कहीं नहीं ठहरते हैं। केरल और तमिलनाडु को छोड़ दिया जाए तो देश का कोई राज्य अथवा केन्द्र शासित राज्य ऐसा नहीं जहां के लोग राहुल गांधी को पीएम के रूप में पसंद करते हों। 15 राज्यो के 25 फीसदी से भी कम लोग चाहते हैं कि राहुल पीएम बनें। बतादें, सर्वे के दौरान 543 लोकसभा क्षेत्रों के 30 हजार लोगों से इस बारे प्रतिक्रिया ली गई है।
कोरोना महामारी को लेकर देश केन्द्र के काम-काज से संतुष्ट है। 41.66 फीसदी लोग मानते हैं कि इस दौरान केन्द्र सरकार के बहतरीन काम किया। ओडिया के 76 फीसदी लोग पूरी तरह से संतुष्ट हैं जबकि 16.4 फीसदी लोग सरकार से कुछ बातों को लेकर असंतुष्ट हैं। तेलंगाना और आंध्र प्रदेश के 60 फीसदी, उत्तर प्रदेश के 40.23 फीसदी और जम्मू-कश्मीर के 43.64 फीसदी लोग केन्द्र सरकार के काम काज संतुष्ट हैं।