लखनऊः सपा के बाद अब कांग्रेस ने दंगाईयों के साथ लगाए सीएम योगी के पोस्टर

नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ हुई हिंसा और सार्वजनिक संपत्तियों के नुकसान की भरपाई के लिए यूपी सरकार की कार्रवाई सपा और कांग्रेस को रास नहीं आ रही है। कुछ दिन पहले सपा नेता आईपी सिंह ने लखनऊ के चौराहों पर हिंसा आरोपियों के साथ भाजपा के आरोपी नेताओं का पोस्टर लगा दिया था तो अब कांग्रेस की तरफ से ऐसा ही पोस्टर आरोपियों के साथ लगाया गया है। कांग्रेस के इस पोस्टर में सीएम योगी आदित्यनाथ और डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या को भी आरोपी के तौर पर दर्शाया गया है।
लखनऊ में पोस्टर वार अब कांग्रेस की बारी
राजधानी लखनऊ में योगी सरकार की ओर से लगाए गए वसूली पोस्टर के जवाब में अब कांग्रेस ने भी भाजपा मुख्यालय के गेट समेत कई जगहों पर सीएम योगी आदित्यनाथ, डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या समेत आधे दर्जन बीजेपी नेताओं और मंत्रियों के नाम का पोस्टर लगाए हैं। इन पोस्टरों के लगाने को लेकर यूपी कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने दावा किया कि कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने यह पोस्टर लगवाये हैं। हालांकि इन पोस्टरों को लगाने के कुछ देर बाद ही जिला प्रशासन ने हटा दिया।
सीएम पहले अपना और अपने दंगाई नेताओं का पोस्टर लगवाएं
पोस्टर लगाने के पीछे प्रदेश कांग्रेस अजय कुमार लल्लू कहते हैं, सीएम विधायिका के अंग हैं न्यायपालिका के नहीं। सीएम खुद को जज समझ बैठे हैं। उनके ऊपर खुद दंगे के आरोप हैं, पहले वह अपना और अपने जैसे दंगे और बलवे के आरोपी मंत्रियों और नेताओं के पोस्टर लगवाये। लल्लू कहते हैं कि किसी के नैतिक चरित्र के हनन का अधिकार किसी भी सरकार को संविधान नहीं देता है।
सीएम जिसे दंगाई कहते हैं वह सामाजिक चिंतक हैं
कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष ने कहा, मुख्यमंत्री बार-बार जिसे दंगाई कह रहे है वे अम्बेडकरवादी हैं, सामाजिक चिंतक हैं, उनका राजनैतिक आंदोलनों का इतिहास है। ऐसे लोगो को दंगाई कहना उनके चरित्र का हनन करने के बराबर है। अब तो हाईकोर्ट ने भी ऐसे होर्डिंग्स को हटाने के लिए कहा है लेकिन सीएम योगी इसे हटा नहीं रहे हैं।
भाजपा ने किया पलटवार
कांग्रेस द्वारा लगाए गए पोस्टरों पर पलटवार करते हुए भाजपा नेता सुरेश राणा कहते हैं कि, दंगाईयों पर प्रदेश सरकार की कार्रवाई से कांग्रेस बौखला गई है। ये वह लोग हैं जो बालाकोट में की गई सेना की कार्रवाई का सबूत मांगते हैं। कश्मीर मामले को यूएनओ ले जाने की बात करते हैं, अफजल और अन्य आतंकियों को सम्मानित करते हैं और देश के टुकड़े-टुकड़ करने वालों का समर्थन करते हैं। उन्होंने कहा, आज यूपी की कानून-व्यवस्था देश के अन्य राज्यों के लिये नजीर बन गई है। योगी जी के नेतृत्व में विकास के पथ पर बढ़ता उत्तर प्रदेश कांग्रेस सहित विपक्ष को रास नहीं आ रहा है।