एंटी करप्शन टीम ने दरोगा सहित तीन को रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया

एंटी करप्शन टीम ने दरोगा सहित तीन को रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया

लखनऊ,
काकोरी थाना क्षेत्र की हरदोई रोड़ स्थित मंगलवार शाम को अन्धे चौकी पर लम्बे समय से चौकी इंचार्ज दरोग़ा ने किशोरी से दुष्कर्म करने वाले आरोपी के परिजनों से पॉस्को एक्ट के मुकदमे में धाराएं कम करने के लिए दस हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए एंटी करप्शन टीम रंग हाथों दरोग़ा को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

काकोरी के मलहा गांव में 15 दिन पहले गांव की एक किशोरी को बहला-फुसलाकर अडवाणी उर्फ महेश पुत्र जौहरी ने किशोरी के साथ दुष्कर्म किया था।किशोरी के परिजनों ने महेश के खिलाफ दुष्कर्म पॉस्को जैसी गंभीर धाराओं में पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर आरोपी महेश को जेल भेज दिया था। मुकदमें की विवेचना अन्धे की चौकी इंचार्ज दरोग़ा धीरज कुमार को मिली थी।मंगलवार शाम 7बजे दरोग़ा धीरज आरोपी के पिता जौहरी को अन्धे की चौकी पर 10 हज़ार रुपए लेकर आने को दरोग़ा ने कई बार फ़ोन कर जौहरी को बुलाया।जौहरी के मुताबिक पॉस्को एक्ट की धाराएं कम करने के लिए 50 हज़ार रूपयों की मांग की थी।लेकिन और रुपयों की व्यवस्था नहीं होने पर दरोग़ा धीरज कुमार ने कहा कि एसओ काकोरी को भी देना है ।10 हज़ार रुपए में धाराएं कम नही होगी।आरोपी महेश के पिता जौहरी किसी तरह से दस हजार लाकर दरोगा को दिए ।और बाकी के 40 हज़ार रुपयों के लिए दो दिनों का समय दिया था।धीरज दरोगा जैसे ही दस हजार रुपये लेकर गिनने लगे उसी दौरान एंटी करप्शन टीम ने आरोपी दरोगा धीरज को रंगे हांथो गिरफ्तार कर लिया बाहर बैठे सिपाही प्रदीप आजाद व होमगार्ड श्रीकृष्ण उर्फ़ सैनी को भी एंटी करप्शन ने गिरफ्तार कर महानगर ले गये उसके बाद एंटी करप्शन टीम ने सिपाही व होमगार्ड से पूछताछ कर उन्हें छोंड़ दिया। वही मौजूद कुछ ग्रामीणों ने बताया कि लगभग पिछले सोलह महीने से विवेचना व मुकदमा दर्ज करवाने के नाम पर धन उगाही का खेल चल रहा था।