जो बाइडेन ने इमीग्रेशन पॉलिसी में दिए बदलाव के संकेत, 5 लाख भारतीयों को होगा फायदा

अमेरिका की सत्ता संभालने वाले जो बाइडन ने अपने कार्यकाल के पहले ही दिन भारतीयों के हित में फैसला बड़ा लिया है। बाइडन ने देश में जारी इमीग्रेशन पॉलिसी में बदलाव करने की तैयारी शुरू कर दी है। उन्होंने कांग्रेस से एक कानून तैयार करने की बात कही है, जिसके तहत 1.1 करोड़ अप्राविसियों को स्थाई दर्जा और नागरिकता आसानी से दी जा सकेगी। उनके इस फैसले से 5 लाख भारतीयों को फायदा होगा। डोनाल्ड ट्रंप के फैसले की वजह से करोड़ों अप्रवासियों के ऊपर देश छोड़ने का खतरा बना हुआ था। अब जो बाइडन नेट्रंप के इस फैसले को पलटने का निर्णय लिया है।
बाइडन के आदेश पर हस्ताक्षर के बाद उन लोगों को फायदा होगा, जो बगैर कानूनी कागजातों को देश में रह रहे हैं। ऐसे लोगों की देश में संख्या करीब 1.1 करोड़ है, जिनमें 5 लाख भारतीय भी शामिल हैं। बाइडन का यह फैसला ट्रंप से पूरी तरह विपरीत है। मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया गया है कि यह विधेयक बुधवार को ही पेश किया जा सकता है।
इस विधेयक के तहत 1 जनवरी 2021 तक ऐसे लोगों की जांच की जाएगी। अगर ये लोग जिम्मेदारियां निभा रहे हैं और टैक्स जमा कर रहे हैं, तो उन्हें 5 साल के लिए अस्थायी कानूनी दर्जा देने का रास्ता तैयार होगा या उन्हें ग्रीन कार्ड भी दिया जा सकता है। मीडिया रिपोर्ट्स से मिली जानकारी के अनुसार, सीनेटर बॉब मेंडज और लिंडा सैंचेज ने इस विधेयक को लेकर तैयारियां शुरू कर दी हैं।
खास बात है कि बाइडन के नई इमीग्रेशन पॉलिसी से अमेरिका में काम कर रहे भारतीय तकनीकी विशेषज्ञों को काफी फायदा होगा। इससे उनकी रोजगरा आधारिक नागरिकता पाने के रास्ते आसान होंगे। इसके अलावा बाइडन ने मुस्लिम देशों पर लगे बैन को भी हटाया है। इसके अलावा उन्होंने ट्रंप के लगाए 7 मुस्लिम बहुल देशों के लोगों के लिए वीजा प्रक्रिया शुरू करने के आदेश दिए हैं।