जम्मू-कश्मीरः डीडीसी चुनाव में भाजपा का दबदबा लेकिन गुपकार को मिला बहुमत

डीडीसी चुनाव में गुपकार को बहुमत, भाजपा ने दिखाया दम
जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 की खत्म किए जाने के बाद विरोध की जो लहर उठी थी उससे लगता था कि यहां से भाजपा को निराशा ही हाथ लगेगी। लेकिन डीडीसी (डिस्ट्रिक्ट डेवलपमेंट काउंसिल) चुनाव के बाद जो नतीजे सामने आए हैं वह भाजपा के लिए उत्साहित करने वाले हैं। हालांकि गुपकार को बहुमत मिला है लेकिन अलग-अलग देखा जाए तो भाजपा यहां पर 74 सीटें जीतकर सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है। हालांकि भाजपा ने जम्मू-कश्मीर में कोई कमाल नहीं दिखा सकी है।
280 सीटों पर चुनाव हुए, जिसके नतीजे आ चुके हैं। गुपकार गठबंधन की पार्टियां नेशनल कॉन्फ्रेंस को 67, पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी को 27 और कांग्रेस ने 26 सीटों पर जीत हासिल की है। इस प्रदर्शन पर पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती खासी खुश नजर आ रही हैं। उन्होंने लिखा, ‘शांति और निष्पक्ष तरीके से पूरे हुए चुनाव लोकतंत्र की जीत है, लेकिन जमीनी हकीकत सामान्य से कहीं दूर थी, जिसके खिलाफ गुपकार गठबंधन ने चुनाव लड़ा था।
पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने कहा, ‘जम्मू-कश्मीर डीडीसी चुनाव से जो रुझान सामने आए हैं, वह गुपकार को काफी उत्साह देने वाले हैं।’ उन्होंने लिखा, ‘बीजेपी ने इसे आर्टिकल 370 और जम्मू-कश्मीर के विशेष दर्जे को लेकर प्रतिष्ठा का मुद्दा बना दिया था। अब लोगों ने जवाब दे दिया है और यह उन लोगों के लिए है, जो इन आवाजों को ध्यान से सुनने के लिए लोकतंत्र पर भरोसा करते हैं।
डीडीसी चुनाव के नतीजे बीजेपी के लिए अच्छे माने जा रहे हैं। पार्टी ने जम्मू में काफी अच्छा प्रदर्शन किया है, लेकिन कश्मीर घाटी में पार्टी की स्थिति कमजोर है। भाजपा ने श्रीनगर, पुलवामा और बांदीपोरा में तीन सीटें हासिल की हैं।  जम्मू में भी बीजेपी 10 में से 6 जिलों में बहुमत पा चुकी है। 28 नवंबर से शुरू हुआ ये चुनाव 8 चरणों तक चला।