इरफान पठान ने अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट के सभी फार्मेट से लिया संन्‍यास

इरफान पठान ने अन्तरराष्ट्रीय क्रिकेट से लिया संन्यास
भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व गेंदबाज इरफान पठान ने अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट संन्‍यास का ऐलान कर दिया है। शनिवार को स्‍टार स्‍पोर्टस स्‍टूडियो में उन्‍होंने 15 साल के अंतरराष्‍ट्रीय करियर को अलविदा कहा। हालांकि वे फ्रेंचाइजी क्रिकेट खेलते रहेंगे। 35 साल के पठान ने कहा, ‘घरेलू क्रिकेट में मैं जम्‍मू कश्‍मीर क्रिकेट का हिस्‍सा हूं और पिछले सीजन के बाद मैंने सोचा कि अब आगे खेलने की क्‍या प्रेरणा है। मैं भारतीय क्रिकेट में योगदान देता रहूंगा लेकिन बेहतर है कि अब घरेलू क्रिकेट में कोई मेरी जगह आ जाए। काफी सारी चीजें हैं जो मेरे लिए बाकी है और उन पर ध्‍यान देता रहूंगा।
इरफान पठान ने भारत के लिए 29 टेस्‍ट, 120 वनडे और 24 टी20 मुकाबले खेले। 9 साल तक वे भारतीय टीम की मजबूत कड़ी रहे। टेस्‍ट में उन्‍होंने 100, वनडे में 173 और टी20 में 28 विकेट लिए। उन्‍होंने बल्‍लेबाजी में भी अहम योगदान दिया था। टेस्‍ट में इरफान पठान ने 1105 रन बनाए जिसमें 1 शतक व 6 अर्धशतक शामिल हैं। वनडे में उन्‍होंने 5 फिफ्टी की मदद से 1544 रन बनाए।

इरफान ने टीम इंडिया के लिए आखिरी मैच अक्‍टूबर 2012 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेले थे। लेकिन फॉर्म में गिरावट और चोटों की वजह से वह भारतीय टीम से बाहर हो गए।
बाएं हाथ के तेज गेंदबाज इरफान पठान अपनी स्विंग और सीम बॉलिंग की वजह से काफी मशहूर हुए थे। उन्‍होंने 18 साल की उम्र में ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ एडिलेड टेस्‍ट से अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट में कदम रखा था। उन्‍होंने सबसे पहले टेस्‍ट क्रिकेट खेला था। जब वे नए नए आए थे तब उनकी तुलना वसीम अकरम से होती थी।
इरफान पठान घरेलू क्रिकेट में बड़ौदा की ओर से खेलते थे। पिछले सीजन से वे जम्‍मू कश्‍मीर क्रिकेट टीम से जुड़ गए थे और वहां से खेलने के बाद अब वे मेंटॉर की भूमिका भी निभा रहे हैं। इरफान पठान ने अपने अंतरराष्‍ट्रीय करियर में कई कमाल के प्रदर्शन किए। वे टेस्‍ट क्रिकेट में हैट्रिक लेने वाले पहले भारतीय तेज गेंदबाज हैं। साथ ही टेस्‍ट मैच की किसी पारी के पहले ही ओवर में लगातार 3 गेंदों पर विकेट लेने वाले इकलौते गेंदबाज हैं। 2007 में भारत को टी20 वर्ल्‍ड कप जिताने में उनका अहम योगदान था। वे फाइनल में मैन ऑफ द मैच चुने गए थे।