IND VS ENG: टीम इंडिया ने किया इंग्लैंड का मानमर्दन- सीरीज 3-1 से जीता

चेन्नई में पहला टेस्ट हारने के बाद भारत ने पलटवार करते हुए अंग्रेजों का मानमर्दन किया। भारत ने पिछड़ने के बाद सीरीज पर 3-1 से कब्जा किया। भारत ने चौथा टेस्ट मैच महज तीन दिन में पारी और 25 रनों से जीत लिया। इस जीत के साथ ही भारत ने वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में जगह पक्की कर ली। वहां भारत का मुकाबला न्यूजीलैंड से होगा। इस टेस्ट सीरीज जीत की सबसे खास बात ये रही कि जीत के हीरो युवा खिलाड़ी रहे।
ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन भारत की जीत के सबसे बड़े हीरो साबित हुए। ऑस्ट्रेलिया में अच्छा प्रदर्शन करने के बाद उन्होंने इंग्लैंड को भी चारों खाने चित कर दिया। अश्विन ने 4 टेस्ट मैचों की सीरीज में 32 विकेट अपने नाम किये। सीरीज में 3 बार पारी में पांच विकेट उन्होंने अपने नाम किये।
पहली ही टेस्ट सीरीज खेल रहे अक्षर पटेल ने भी अपना जलवा दिखाया। पहले टेस्ट मैच में चोट के चलते नहीं खेल पाने वाले इस बाएं हाथ के स्पिनर को जैसे ही दूसरे टेस्ट मैच में मौका मिला, उन्होंने अपना कमाल दिखा दिया। अक्षर पटेल ने टेस्ट सीरीज में 27 विकेट अपने नाम किये।

रोहित शर्मा भारतीय बल्लेबाजों की रीढ़ साबित हुए। जिस टेस्ट सीरीज में कप्तान विराट कोहली, चेतेश्वर पुजारा और अजिंक्य रहाणे जैसे दिग्गजों का बल्ला खामोश रहा वहां रोहित शर्मा ने 4 मैचों में 345 रन ठोके। रोहित शर्मा के बल्ले से एक शतक और एक अर्धशतक निकला।
टीम इंडिया के विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत ने भी बल्ले और विकेटकीपिंग में अपना जलवा दिखाया। टेस्ट सीरीज में पंत के बल्ले से 54 की औसत से 270 रन निकले। इसके साथ ही पंत ने विकेट के पीछे कुल 13 शिकार किये। पंत ने 8 कैच लपके और उन्होंने 5 स्टंपिंग्स भी की।
वॉशिंगटन सुंदर ने टेस्ट सीरीज में चार पारियां खेली लेकिन उन्होंने कम मौके में ही खुद को साबित कर दिया। 7वें और 8वें नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए सुंदर ने 90 से ज्यादा की औसत से 181 रन बना डाले। सुंदर ने दो अर्धशतक लगाए और दोनों बार उन्होंने ये पारियां मुश्किल वक्त पर खेली। चौथे टेस्ट में सुंदर शतक से चूक गए और नाबाद 96 रन बनाकर पैवेलियन लौटे।