IND VS AUS: टीम इंडिया ने गाबा में तोड़ा ऑस्ट्रेलिया का गुरुर, सीरीज 2-1 से जीता, गावस्कर-बार्डर ट्राफी रखी बरकरार

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच ब्रेस्बेन के गाबा स्टेडियम में खेले गए सीरीज के अंतिम मैच में टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया का गुरुर चकनाचूर कर दिया। भारतीय युवा टीम में दिखा दिया कि जब वह चलते हैं रास्ते में चाहे जितने कांटे बिछा दो मंजिल पाकर ही दम लेते हैं। गाबा टेस्ट के अंतिम दिन ऑस्ट्रेलिया ने वह सबकुछ किया जिसका उम्मीद की जा रही थी लेकिन भारतीयो के हौसले को तोड़ नहीं पाएं। पहले शुभमन गिल ने 91 रनों की शानदार पारी खेलकर टीम इंडिया के मंसूबों को जता दिया फिर अंत किया ऋषभ पंत ने जिसने दिखा दिया कि वह वास्तव में मैच विनर है। 89 रनों की धुंआधार पारी ने ऑस्ट्रेलिया के गुरुर को तोड़ कर रख दिया।

भारत ने ऑस्ट्रेलिया को चौथे टेस्ट क्रिकेट मैच में तीन विकेट से हराकर सीरीज 2-1 से जीतने के साथ ही बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी अपने पास बरकरार रखी है। भारत ने ऑस्ट्रेलिया में अपना सबसे बड़ा 328 रन का टारगेट चेज किया। इसी के साथ भारत ने गाबा में ऑस्ट्रेलिया की बादशाहत को भी खत्म कर दिया है।

ऑस्ट्रेलिया गाबा में अंतिम बार नवंबर 1988 में वेस्टइंडीज से 9 विकेट से हारी थी। 1988 के बाद ऑस्ट्रेलिया ने ब्रिस्बेन में 31 टेस्ट खेले थे, जिसमें से 24 जीते और 7 ड्रॉ रहे। अब 2021 में भारत ने उसे इस मैदान पर हराकर नया रिकॉर्ड बनाया है। भारतीय टीम ने ब्रिस्बेन के गाबा मैदान पर पहला टेस्ट जीता है। इससे पहले टीम इंडिया ने 6 टेस्ट खेले , 5 हारे और एक ड्रॉ कराया था।

अजिंक्‍य रहाणे की अगुआई में टीम इंडिया के शुभमन गिल, ऋषभ पंत, चेतेश्‍वर पुजारा की अर्धशतकीय पारी के दम पर सात विकेट गंवाकर आसानी से मुकाबला जीत लिया। इस ऐतिहासिक जीत के साथ ही भारत ने कई रिकॉर्ड्स बना लिए।

ऑस्‍ट्रेलिया ने पहली पारी में 369 रन बनाए थे। जिसके बाद भारत की पहली पारी 336 रन ही बना सकी थी लेकिन इसी के साथ टीम इंडिया ने अपनी जीत की इबारत भी लिख दी थी। दूसरी पारी में भारतीय गेंदबाजों ने मेजबान को 294 रन पर समेट दिया था। जिसके बाद भारत ने 7 विकेट पर 329 रन बनाकर मुकाबला और सीरीज अपने नाम कर लिया।

भारत ने टेस्‍ट मैच जीतने के लिए पांचवें दिन 325 रन बनाए। टेस्‍ट क्रिकेट के इतिहास में मैच में जीत हासिल करने के लिए तीसरी बार पांचवें दिन सबसे ज्‍यादा रन बने। 1948 में लीड्स में ऑस्‍ट्रेलिया ने इंग्‍लैंड के खिलाफ पांचवें दिन 404 रन बनाकर टेस्‍ट मैच में जीत हासिल की थी।
भारत ने पांचवीं बार पहला टेस्‍ट मैच हारने के बावजूद सीरीज पर कब्‍जा किया। इससे पहले 1972- 1973 में इंग्‍लैंड, 2000- 2001 में ऑस्‍ट्रेलिया, 2015 में श्रीलंका, 2016- 2017 में ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ पहला टेस्‍ट हारने के बाद सीरीज पर 2-1 से कब्‍जा किया था।

ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ उसी के घर में तीसरी बार किसी टीम ने सबसे बड़ा लक्ष्‍य हासिल किया है। इससे पहले 2008- 2009 में साउथ अफ्रीका ने पर्थ में 414 रन का लक्ष्‍य और 1928- 1929 में इंग्‍लैंड ने मेलबर्न में 332 रन का लक्ष्‍य हासिल किया था।
भारत का यह तीसरा सबसे बड़ा हासिल किया गया लक्ष्‍य है। इससे पहले 1975-1976 में वेटस्‍इंडीज के खिलाफ 406 रन का लक्ष्‍य और 2008- 2009 में इंग्‍लैंड के खिलाफ सबसे बड़ा लक्ष्‍य हासिल किया था।