IND VS AUS: सिडनी टेस्ट ड्रॉ, पंत ने खेली तूफानी पारी, ऑस्ट्रेलिया की हलक में अटक कर रह गई जीत

सिडनी टेस्ट आखिरकार बिना हार जीत के फैसले के खत्म हो गया। इस टेस्ट मैच में भारत ने दिखा दिया कि दिल गुर्दा क्या चीज है। भारतीय बल्लेबाजों ने ऑस्ट्रेलिया के हलक से जीत खींच ली। जीते तो नहीं लेकिन जीतने भी नहीं दिया। ऋषभ पंत, रोहित शर्मा, चेतेश्वर पुजारा, हनुमा विहारी और आर अश्विन की धैर्यपूर्ण बल्लेबाजी के आगे ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाद कसरत करते रहे लेकिन उन्हें डिगा नहीं पाए। अन्ततः ऑस्ट्रेलियाई कप्तान टिम पेन ने मैच ड्रॉ की घोषणा कर दी और मैच बिना हार जीत के खत्म हो गया। चार मैचों की सीरीज 1-1की बराबरी पर है। अब सीरीज पर कब्‍जा करने के लिए दोनों टीमों की नजर ब्रिस्‍बेन में होने वाले चौथे टेस्‍ट मैच पर है।

एक समय भारत के हाथ से मुकाबला निकलता नजर आ रहा था, मगर पुजारा और पंत ने 148 रन की साझेदारी कर उम्‍मीद जगाई और फिर इसके बाद आर अश्विन और हनुमा विहारी ने पैर जमा दिए। दोनों ने धीमी, मगर अहम पारी खेली। हनुमा 23 रन और अश्विन 39 रन पर नाबाद रहे।
इससे पहले ऑस्‍ट्रेलिया ने पहली पारी में 338 रन बनाए थे। इसके बाद भारतीय टीम 334 रन ही बना पाई। पहली पारी में मिली बढ़त को मेजबान ने दूसरी पारी 6 विकेट पर 312 रन पर घोषित करके और मजबूत कर दी।
चौथे दिन भारत ने 98 रन पर रोहित शर्मा और शुभमन गिल के रूप में दो बड़े विकेट गंवा दिए थे। अजिंक्‍य रहाणे भी पांचवें दिन जल्‍दी आउट हो गए। इसके बाद पंत और पुजारा ने शतकीय साझेदारी कर टीम की उम्‍मीद जगाई। ऑस्ट्रेलिया ने खतरनाक दिख रहे ऋषभ पंत और डटकर खेल रहे चेतेश्वर पुजारा को पवेलियन भेजकर टी ब्रेक‍ तक भारत को 280 रन पर 5 झटके दे दिए थे।

पंत ने शानदार बल्लेबाजी करते हुए 97 रनों की पारी में 118 गेंद की पारी में 12 चौके और तीन छक्के मारे। नाथन लायन हालांकि दूसरी नई गेंद से पंत को पवेलियन भेजने में सफल रहे। पंत के आउट होने के बाद पुजारा ने कुछ अच्छे शॉट खेले लेकिन जोश हेजलवुड ने उन्हें बोल्ड करके उनकी 205 गेंद की पारी का अंत किया। पुजारा ने अपनी पारी में 12 चौके लगाए।