देर रात खाने की आदत को बदलिए, वरना आपकी नींद हराम हो जाएगी

देर रात खाने से कई गंभीर बीमारियों के होने का खतरा रहता है

वर्क फ्रॉम होम ने हमारी दिन चर्या को प्रभावित कर दिया है। देर रात तक काम करना और फिर सुबह जल्दी उठना, ये दिन चर्या हमारे स्वास्थ्य पर प्रतिकूल प्रभाव डाल रहा है। इसके अलावा भी कई ऐसे लोग भी हैं जिन्हें देर रात तक जागने की आदत है। इस दिन चर्या और देर रात तक जागने के कारण अक्सर लोगों को देर रात खाने की आदत हो गई है। ये आदतें हमारी नींद को खराब कर रही हैं। अगर जल्दी इन आदतों को नहीं बदला गया तो हम किसी न किसी गंभीर बीमारी की चपेट में आ सकते हैं।
पर्याप्त नींद के अभाव में हमारी मानसिक और शारीरिक सेहत पर नकारात्मक प्रभाव पड़ने लगता है। आइए जानते हैं देर रात खाने के दुष्परिणामों के बारे में, इसे समझिए और देर रात खाने की आदत को दूर भगाइए…

देर रात भूलकर भी इन चीजों का सेवन न करें…

फल- रात के वक्त हमारा पाचन तंत्र धीमा काम करता है। ऐसे में अगर आप प्राकृतिक शुगर वाले फलों का सेवन करेंगे तो ब्लड शुगर बढ़ सकता है। ब्लड शुगर बढ़ने के कारण आपको बेचैनी हो सकती है जिससे आपकी नींद प्रभावित होती है। इसलिए सोने से 2 घंटे पहले फल का सेवन करें।
जंक फूड- आधुनिक लाइफस्टाइ में लोगों को जंक फूड से कुछ ज्यादा ही लगाई है। देर रात तक काम करने वाले अक्सर जंक फूड का सहारा लेते हैं। पिज्जा, बर्गर, चिप्स आदि कुछ बेहद कॉमन उत्पाद हैं जिसे लोग प्रयोग में लाते हैं। सावधान रहे रात्रि में इनका सेवन कतई न करें। इसमें तेल, कार्ब्स, फैट और कृतम शुगर की अधिक होती है जिसे पचने में पाचन तंत्र को काफी मेहनत करनी पड़ती है। इसे रात में खाने से बदहजमी हो सकती है।
कैफीन- देर रात तक जागने वाले अक्सर चाय या फिर कॉफी का इस्तेमाल करते हैं। रात्रि में इसके सेवन न करें तो बेहतर होगा। एक अध्ययन में ये बात सामने आई है कि सोने से पहले कैफीन का सेवन नींद को प्रभावित करता है।
आइसक्रीम- अक्सर रात्रि में खाने के बाद लोग आइसक्रीम का सेवन करते हैं। खाने के बाद मीठा खाने का प्रचलन है। ऐसा माना जाता है कि खाने के बाद मीठा खाने से भोजन पचने में आसानी होती है। लेकिन आइसक्रीम इसका विकल्प नहीं है। इसमें मौजूद आई कैलोरी और शुगर हमारी नींद को प्रभावित करती है, इसके अलावा हमारा हाजमा भी खराब करती है।
टमाटर- निःसंदेह टमाटर हमारे भोजन के स्वाद को बढ़ाता है। तभगभ सभी सब्जी मे टमाटर का उपयोग किया जाता है। लेकिन देर रात टमाटर खाना हमारी नींद को प्रभावित करता है। टमाटर में पाया जाने वाला अमीनो एसिड रात के वक्त हमारे दिमाग को सक्रिय कर देता है जिससे हमारी नींद गायब हो जाती है। इसके अलावा इसमें विटामिन सी पाया जाता है। रात के समय एसिडिटी की समस्या और हार्टबर्न जैसी समस्या को जन्म देता है।
(इस लेख में दी गई जानकारियों सामान्य सूचनाओं पर आधारित हैं। lastpost.in इनकी पुष्टि नहीं करता है। इन पर अमल करने से पहले विशेषज्ञ की सलाह जरुर लें।)