दिग्विजय सिंह ने गोडसे को बताया पहला आतंकवादी, साध्वी प्रज्ञा ने दिया ये जवाब…

कांग्रेस के विरिष्ठ नेता और मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने एक बार नाथू राम गोडसे को आतंकवादी बताया है। एक कार्यक्रम के दौरान उन्होंने गोडसे के देश का पहला आतंकवादी बताया। उनके इस बयान से मध्य प्रदेश का सियासी पारा गर्मा गया है। भोपाल से भाजपा सांसद साध्वी प्रज्ञा ने पलटवार करते हुए कहा, कांग्रेस ने देशभक्तों के अपमान का ठेका ले रखा है, उनके साथ हमेशा दुर्व्यहार करती रही है। कांग्रेस ने भगवा आतंक कहा इससे बुरा और क्या हो सकता है।
इस दौरान साध्वी प्रज्ञा ने ग्वालियर में शुरु हुई गोडसे ज्ञानशाला पर भी अपने विचार रखे। उन्होंने कहा सभी राष्ट्रभक्त पूरे देश में अपने तरीके से काम करते हैं। इसको लेकर किसी तरह का विवाद नहीं होना चाहिए।
गोडसे ज्ञानशाला खुलने की जानकारी मिलने पर ग्वालियर जिला प्रशासन के हाथ-पांव फूल गए। प्रशासन ने मंगलवार को हिंदू महासभा के लोगों से वार्ता कर इसे बंद करा दिया। इस ज्ञानशाला की शुरुआत दो दिन पहले 10 जनवरी को ग्वालियर में हिंदू महासभा ने दौलतगंज स्थित अपने दफ्तर में की थी।
ग्वालियर के अपर कलेक्टर किशोर कान्याल- ‘‘मीडिया में समाचार आने के बाद दौलतगंज में हिंदू महासभा के पदाधिकारियों से बात की और नोटिस जारी किया। इसके साथ दौलतगंज इलाके में धारा 144 लगा दी गई है और हिंदू महासभा ने गोडसे की ज्ञानशाला को बंद कर दिया।