कोरोना के नए रूप से दहशत, लंदन से कानपुर लौटे 88 लोगों के सैंपल जाएंगे नेशनल वायरोलॉजी इंस्टीट्यूट

ब्रिटेन में कोरोना वायरस के नए रूप में सामने आने के बाद दुनिया में एक बार फिर खौफ के बादल छाने लगे हैं। WHO की ताजी रिपोर्ट में बड़ा खुलासा हुआ है। रिपोर्ट में कहा गया है कोरोना के नए स्वरूप की चपेट में सबसे ज्यादा युवा आ रहे हैं। इस रिपोर्ट के आने के बाद हर तरफ सावधानी बरतने की चेतावनी जारी की जा रही है। जहां तक भारत का सवाल है तो यहां भी सरकार लोगों को सावधानी बरतने की सलाह दे रही है। पिछले दिनों ब्रिटेन से भारत में आए तमाम लोगों की स्क्रीनिंग शुरू कर दी है।
बता दें यूपी के शहर कानपुर में ऐसे 122 लोगों की सूची सामने आई है जो बीते दिनों ब्रिटेन से यहां आए हैं। शुक्रवार देश शाम तक ऐसे 88 लोगों के नमूने जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज भेजी गई है। दो एमएल सैंपल से आरटीपीसीआर जांच की जाएगी। बचे हुए नमूने को माइनस (-) 80 डिग्री तापमान में रखते हुए जांच के लिए पुणे स्थित नेशनल वायरोलॉजी इंस्टीट्यूट (NIV) भेजा जाएगा।
प्रदेश की योगी सरकार ने मेडिकल कॉलेज की उप प्राचार्या रिचा को निर्देशित किया है कि इन 88 व्यक्तियों के सैंपल से प्रत्येक के सिरफ दो एमएल से ही आरचीपीसीार जांच की जाए। शेष सैंपल को (-)80 डिग्री पर सुरक्षित रख लिया जाए। उसे जिनोमिक सिक्वेंसिंग जांच के लिए नेशनल वॉयरोलॉजी लैब पुणे भेजा जाएगा।