कोरोना की दहशतः योगी सरकार का फैसला, घर से ही काम करें निजी और सरकारी कर्मचारी

131 तक पहुंची वायरस संक्रमित मरीजों की तादाद
महाराष्ट्र में 39 मरीज, केरल में 25 लोगों की पुष्टि
कोरोना की चपेट से बाहर आ चुके हैं 13 मरीज
महाराष्ट्र में 3 साल की बच्ची वायरस की चपेट में
कोरोना वायरस के संक्रमण से पूरी दुनिया में हाहाकार मचा है। दुनिया में अब तक 6 हजार लोग कोरोना से बे मौत मारे जा चुके हैं और तकरीबन इससे संक्रमित लोगों की संख्या 2 लाख पहुंचने वाली है। कहर थम नहीं रहा, दुनिया भर के लोग इससे बचने के उपाय खोज रहे हैं। इससे सबसे ज्यादा प्रभावित ईरान और इटली हैं। इस बीच भारत में रोज कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं। अब तक देश में 131 मामले सामने आ चुके हैं और चार लोगों की मौत की पुष्टि हो चुकी है। सरकार से देश भर के सभी सार्वजनिक प्रतिष्ठानों, मॉल्स सिनेमाघर, स्कूल, कॉलेजों को बंद करने के आदेश जारी कर चुकी है। इस बीच उत्तर प्रदेश सरकार ने कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए एक महत्वपूर्ण फैसला लिया है।
यूपी सरकार का अहम फैसला
कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए मंगलवार को हुई कैबिनेट की बैठक में योगी सरकार ने कई अहम फैसला लिया है। सीएम योगी की अध्यक्षता में हुई बैठक में राज्य कर्मचारियों के लिए मुख्य सचिव की अध्यक्षता में एक कमेटी बनाई गई है। सरकारी कर्मचारी घर से काम करेंगे। इसके अलावा प्राइेवेट फर्म में काम करने वालों के लिए भी घर से काम करने के लिए दिशा निर्देश जारी किए गए हैं।
कोरोना को स्टेज थ्री स्टेज पर पहुंचने से रोकने का प्रयास
कैबिनेट फैसले की जानकारी देते हुए सरकार के प्रवक्ता और ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा ने बताया, कोरोना वायरस स्टेज टू में है। सीएम योगी ने सभी लोगों से अपील की है कि कोरोना वायरस को स्टेज थ्री में पहुंचने से रोकना है। इसी क्रम ने सीएम ने निर्देश दिए हैं कि प्राइवेट फर्मों में काम करने वाले लोग घर से ही काम करें।
सरकारी कर्मचारियों को वर्क फ्राम होम
उन्होंने बताया कि सरकार के लिए काम करने वालों के लिए मुख्य सचिव की अध्यक्षता में एक कमेटी का गठन किया गया है। कमेटी की रिपोर्ट के बाद सरकारी कर्मचारियों के लिए वर्क फ्राम होम की सुविधा दी जाएगी। फिलहाल जहां सुविधा है वहां पर लोग अपने घरों से ही काम करें। सूबे में धरना प्रदर्शन पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगा है।
इनके खातों में पैसे भेजगी सरकार
श्रीकांत शर्मा ने कहा कि जो लोग प्रत्येक दिन रोजी-रोटी के लिए बाहर निकलते हैं, उसके लिए वित्त मंत्री की अध्यक्षता में कमेटी बनाई गई है, जिसकी रिपोर्ट के बाद उनके खातों में आरटीजीएस के जरिए पैसा भेजा जाएगा, जिससे वह लोग घर पर रहे और उनका जीवन-यापन भी चलता रहे।
स्कूल-कॉलेज 2 मार्च तक के लिए बंद, परीक्षाएं भी निरस्त
सीएम योगी की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट बैठक में पांच अहम प्रस्तावों पर सहमति की मुहर लगी। इस दौरान कोरोना वायरस को लेकर गाइडलाइन जारी की गई। नए निर्देशों में उत्तर प्रदेश के सभी पर्यटक स्थलों को 31 मार्च तक बंद करने का आदेश जारी किया जा रहा है। यही नहीं यूपी के सभी स्कूल-कॉलेज 2 अप्रैल तक बंद करने का आदेश जारी हो गया है। यहां होने वाली परीक्षाएं भी निरस्त कर दी गई हैं।
सीएम योगी आदित्यनाथ की अपील
श्रीकांत शर्मा ने बताया कि स्कूल सिर्फ साफ-सफ़ाई के लिए खुलेंगे। मल्टीप्लेक्स, कॉलेज को 2 अप्रैल तक किये गए बन्द रहेंगे। इसके अलावा धार्मिक नेताओं से मुख्यमंत्री ने अपील की है कि सभी मंदिरों, मस्जिदों, गुरुद्वारों व अन्य में ज्यादा भीड़ न हो। इसके अलावा प्रदेश के विभिन्न जिलों में होने वाले तहसील दिवस व जनता दर्शन कार्यक्रमों को भी 2 अप्रैल तक के लिए बंद किया गया ।