कोरोना वायरसः इटली में हाहाकार, एक दिन में 133 लोगों की मौत, कुल आंकड़ा 1000 के पार

चीन से निकले कोरोना वायरस से पूरी दुनिया में दहशत है। ईरान में कुछ दिन पहले एक दिन में 33 लोगों की मौत के बाद लोगों को राहत मुहैया कराने के लिए सेना को कमान सौंप दी गई। अब इटनी में कोरोना का कहर बरपा है, यहां पर एक दिन 133 लोगों की मौत हो गई। एक दिन इतने लोगों की मौत के बाद पूरे इटली में आपात घोषित कर दिया गया है। यहां पर तकरीबन 1.5 करोड़ लोगों को घर में एक तरह से कैद कर दिया गया है। इटली में अभी तक 1000 लोगों की कोरोना वायरस के कारण मौत हो चुकी है। इन मौतों के बाद इटली की सरकार ने दो करोड़ मास्क का आर्डर दिया है। बता दें इटली में एक दिन में 1492 संक्रमण के मामले सामने आए हैं।
कोरोना ये इटली में 1000 लोगों की मौत
गौरतलब है कि चीन के बाद सबसे ज्यादा कोरोना वायरस की चपेट में आने वाला देश इटली है। यहां पर इस वायरस के चलते 1000 लोगों की मौत हो गई है और संक्रमित लोगों की संख्या 7,375 पहुंच गई है। नागरिक सुरक्षा एजेंसी ने कहा कि अधिकांश मौत उत्तरी इटली में लोम्बार्डी क्षेत्र में हुई हैं। इस बीच इटली ने कोरोना वायरस से निपटने तथा लोगों में इसके प्रसार को रोकने के उपाय के लिए 2.2 करोड़ मास्क के ऑर्डर दिए हैं।
105 करोड़ लोगों को घरों में किया गया बंद
इटली में कोरोना वायरस से मरने वालों की तादात को देखते हुए सरकार ने बड़ा कदम उठाते हुए सिनेमाघरों, थियेटर और संग्रहालयों को बंद रखने का आदेश दिया है। सरकारी वेबसाइट पर प्रकाशित आदेश के मुताबिक उत्तर इटली में 1।5 करोड़ लोगों को जबरन घरों में बंद कर दिया गया है। कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए देश के सभी सकूलों, नाइट क्लबों और कसीनों को बंद कर दिया गया है। ये आदेश 3 अप्रैल तक प्रभावी रहेगा।
लोगों को अपने इलाके से बाहर निकलने पर रोक
कोरोना वायरस के संक्रमण पर प्रधानमंत्री ग्यूसेप कोंते ने कहा, लोंबार्डी और उत्तरी प्रांतों के लोगों के लिए कुछ प्रतिबंध लगाए गए हैं। संक्रमण को देखते हुए लोगों के इलाकों से बाहर आने-जाने पर रोक रहेगी, ये लोग अपने क्षेत्र में भी बाहर नहीं निकल सकेंगे। बता दें कि कोरोनावायरस से निपटने के लिए कई देश ट्रैवल बैन, मूवमेंट बैन जैसे तरीकों को अपना रहे हैं।