कोरोना वायरस वैश्विक महामारी घोषित, भारत आने वाले विदेशियों के वीजा सस्पेंड

चीन से निकले कोरोना वायरस के कारण पूरी दुनिया में हाहाकार मचा है। पूरी दुनिया में इसके संक्रमण की चपेट में डेढ़ लाख से ज्यादा हैं, अब तक 4500 लोगों के मौत की खबर है। भारत में कोरोना वायरस के 59 लोगों का पता लगा है। इस बीच विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने कोरोना वायरस को वैश्विक महामारी घोषित कर दिया है। इधर भारत सरकार ने भारत आने वाले लोगों के सभी तरह के वीजा रद्द कर दिए हैं। हालांकि हालांकि डिप्लोमैटिक वीज़ा, आधिकारिक, UN/इंटरनेशनल ऑर्गनाइजेशन के, रोजगार संबंधित, प्रोजेक्ट विशेष से जुड़े वीज़ा होल्डर्स को इसमें छूट दी गई है।
भारत सरकार ने उठाया बड़ा कदम
भारत सरकार के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने कहा है कि ओवरसीज सिटिजनशिप ऑफ इंडिया कार्ड होल्डर्स को दी गई वीजा फ्री ट्रेवल की छूट 15 अप्रैल 2020 तक निलंबित रहेगी। यह फैसला 13 मार्च 2020 से लागू हो जाएगा। उधर एयर इंडिया ने इटली और दक्षिण कोरिया की सभी फ्लाइट कैंसिल कर दी हैं। इटली के लिए 28 मार्च और कोरिया के लिए 25 मार्च तक के लिए फ्लाइट कैंसिल कर दी गई हैं।
इन देशों से आने वाले यात्रियों को 14 दिनों तक अलग रखा जाएगा
स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने कहा है कि भारत आने वाले ऐसे सभी यात्रियों को कम से कम 14 दिनों के लिए अलग रखा जाएगा, जो 15 फरवरी, 2020 के बाद से चीन, इटली, ईरान, रिपब्लिक ऑफ कोरिया, फ्रांस, स्पेन और जर्मनी से आए हों या आने वाले हों। इन यात्रियों में विदेशी यात्रियों के साथ ही भारतीय भी शामिल होंगे।
ताकि कोरोना वायरस के प्रसार को रोका जा सके
भारत सरकार के गृह मंत्रालय ने भी कहा है कि आपदा प्रबंधन कानून 2005 के तहत नेशनल एक्जीक्यूटिव कमेटी के प्रतिनिधियों के प्रमुख होने के नाते केन्द्रीय गृह सचिव के अंतर्गत स्वास्थ्य एव परिवार कल्याण मंत्रालय के सचिव की शक्तियां आएंगी, ऐसा इसलिए ताकि कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने की तैयारियों को धार दिया जा सके।
WHO ने कोरोना को महामारी घोषित किया
विश्व स्वास्थ्य संगठन के प्रमुख ने बुधवार को कहा है कि कोरोना वायरस को अब महामारी कहा जा सकता है। WHO के अध्यक्ष टेड्रास गेब्रेयेसस ने जेनेवा में संवाददातओं को बताया कि कोविड-19 को अब महामारी कहा जा सकता है। उन्होंने कहा कि हमने कोरोना की ऐसी महामारी कभी नहीं देखी है।