कोरोना वायरसः इस मुस्लिम शिक्षण संस्थान ने सरकार को दिया बड़ा प्रस्ताव

दारूल उलूम देवबंद से दिया बड़ा प्रस्ताव
सहारनपुर। उत्तर प्रदेश सहित देश भर में कोरोना वायरस का कहर जारी है। वहीं, मुस्लिम समुदाय के सबसे बड़े शिक्षण संस्थान दारुल उलूम देवबंद ने अपने एक बिल्डिंग को आइसोलेशन वार्ड के रूप में प्रयोग करने का प्रस्ताव दिया है।
एशिया के सबसे बड़े मदरसे के रूप में पहचान रखने वाले सहारनपुर स्थित दारुल उलूम देवबंद के कुलपति मुफ्ती अबुल कासिम नोमानी ने सोमवार को कहा कि हमने एक बिल्डिंग को आइसोलेशन वार्ड के रूप में बनाने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार को प्रस्ताव दिया है।
इस सिलसिले में देवबंद मदरसे के कुलपति ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखा है और कोरोना से जंग में मदरसे की जीटी रोड पर बनी बिल्डिंग ‘दारुल कुरआन’ को आइसोलेशन वार्ड के रूप में प्रयोग करने की पेशकेश की है।
देश में कोरोना के अब तक 1071 मरीज
उल्लेखनीय है कि देश में लॉकडाउन का आज 6वां दिन है, लेकिन संक्रमितों मरीजों का आंकड़ा लगातार बढ़ता जा रहा है। स्वास्थ्य मंत्रालय के ताजा आंकड़ों के मुताबिक, अब तक संक्रमितों की संख्या 1071 हो गई है। इनमें 942 एक्टिव केस हैं, जबकि 29 लोगों की जान जा चुकी है। जबकि, 99 लोग डिस्चार्ज हो गए हैं। वहीं, मीडिया रिपोर्ट में संक्रमितों का आंकड़ा 1152 बताया जा रहा है।
वहीं, रविवार को उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस से संक्रमित 17 नए मामले सामने आए। रविवार को मेरठ में आठ, नोएडा में पांच, गाजियाबाद में दो और बरेली और आगरा में एक-एक पॉजिटिव केस मिला। इसी के साथ प्रदेश में संक्रमित मरीजों की संख्या 82 पहुंच गई है।