कोरोना वैक्सीनेशनः अब तक 447 लोगों में दिखा वैक्सीन का साइड इफेक्ट- स्वास्थ्य मंत्रालय

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 16 जनवरी (शनिवार) को कोरोना टीकाकरण अभियान की शुरुआत कर दी। इसी के साथ देश भर में कोरोना वॉरियर्स को वैक्सीन लगाने का काम शुरु हो गया। टीकाकरण में सबसे पहले देश के 3 करोड़ कोरोना वॉरियर्स का टीकाकरण किया जाना है। इन सब के बीच टीकाकरण को लेकर परेशान करने वाली खबर सामने आ रही है। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक वैक्सीनेशन के बाद अभी तक 447 लोगों पर साइड इफेक्ट देखने को मिला है। मंत्रालय के अनुसार तीन लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।
एक प्रेसवार्ता में रविवार को स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से इस बात की जानकारी दी गई। स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया है कि कोरोना टीकाकरण के बाद 16-17 जनवरी को 447 एइएफआई (एडवर्ड इवेंट फॉलोइंग इम्युनाइजेशन) रिपोर्ट किए गए हैं। केन्द्रीय स्वास्थ्य सचिव डॉक्टर मनोहर अगनानी के अनुसार अधिकांश मामलों में इसका साइड इफेक्ट मामूली स्तर का था।
हालांकि भारत सरकार की तरफ से कहा जा रहा है कि भारत में बनी दोनों कोरोना वैक्सीन पूरी तरह से सुरक्षित हैं। अमित शाह ने कर्नाटक में कांग्रेस के सवाल पर जवाब देते हुए ये बातें कहीं थीं। उन्होंने कांग्रेस पर लोगों को भड़काने का आरोप भी लगाया था। उन्होंने कहा था कि कांग्रेस हर अच्छे काम का विरोध करती है। आप कांग्रेस की बातों में न आएं, अनुशासित तरीके से वैक्सीनेशन कराएं।
लेकिन वैक्सीन लगाने के बाद कई लोगों में इसका साइड इफेक्ट देखने को मिला है। दिल्ली के 52 स्वास्थ्य कर्मियों को टीका लगाने के बाद परेशानी हुई। कुछ में एलर्जी जैसी समस्या आई तो कुछ ने घबराहट की शिकायत की है। दिल्ली में एक वर्कर को एईएफआई सेंटर में भर्ती करवाना पड़ा है।