कोरोना संक्रमण, यूपीः मोहल्ले में एक भी संक्रमित मिला तो आसपास के 20 घर होंगे सील

उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमण लगातार बढ़ता जा रहा है। रविवार को रिकार्ड 4164 केस समामने आए, इस दौरान 31 लोगों की मौत हो गई। वर्तमान में यूपी में 19,738 एक्टिव केस हैं। इधर राजधानी लखनऊ में लगातार दूसरे दिन एक हजार से ज्यादा नए केस सामने आए।
रविवार को लखनऊ में 1129 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इस दौरान आठ लोगों की मौत हो गई। संक्रमण के लगातार बढ़ते केसों ने सरकार की चिंता बढ़ा दिए हैं।
बढ़ते संक्रमण को देखते हुए योगी सरकार एक्शन में आई है। सरकार ने कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए कड़े कदम उठाने के निर्देश जारी किए हैं।
संक्रमण को रोकने के लिए सरकार की तरफ से कहा गया है कि जहां भी एक मरीज मिलेगा उसके आस-पास के 20 घरों को कंटोनमेंट जोन घोषित कर दिया जाएगा।
इन 20 घरों को सील कर दिया जाएगा। सरकार का मानना है कि ऐसा करने से आसपास के इलाकों में कोरोना का संक्रमण नहीं फैलेगा।
जानकारी के अनुसार प्रदेश में बढ़ते कोरोना संक्रमणको देखते हुये सरकार ने कड़े नियम बनाए हैं। शहरी इलाकों में कोरोना मरीज मिलने पर तकरीबन 20 मकानों को सील कर दिया जाएगा और उसको कंटेनमेंट जोन घोषित कर दिया जाएगा।
अगर एक से अधिक केस मिलते हैं, तो इस पर 60 मकानों का इलाका सील कर दिया जाएगा, जहां पर आवागमन पूरे तरीके से बंद कर दिया जाएगा। वहां के लोगों को 14 दिन तक ऐसी स्थिति में रहना पड़ेगा।
इसके अलावा सरकार ने बड़ी इमारतों और अपार्टमेंट के लिए अलग नियम बनाए हैं। इस नियम के तहत एक मरीज अगर किसी अपार्टमेंट में मिलता है तो उस पूरी मंजिल को बंद कर दिया जाएगा।
एक से अधिक मरीज मिलने पर ग्रुप हाउसिंग का संबंधित ब्लॉक ही पूरा सील कर दिया जाएगा। 14 दिनों तक एक भी मरीज ना मिलने पर ही कंटेनमेंट जोन को समाप्त किया जा सकेगा।