शराब से कोराना का खात्मा करने वाले कांग्रेस विधायक ने की कोरोना कॉलर टोन हटाने की मांग

Last Updated : by

24 Views
कोरोना महामारी का कहर दुनिया भर के देशों में फैला हुआ है। भारत में भी कोरोना वायरस से संक्रमित होने वाले मरीजों का आंकड़ा रोजाना बढ़ रहा है। ऐसे में कोरोना महामारी से बचाव को लेकर तरह-तरह के उपायों की बात सामने आती रही है। मगर सभी उपाय इस महामारी के आगे अब तक फेल साबित हुए हैं। वहीं राजस्थान के एक कांग्रेस विधायक ने पूर्व में शराब से कोरोना वायरस भगाने का दावा किया था। अब कांग्रेस विधायक भरत सिंह कुंदनपुर ने केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर को मोबाइल फोन से कोरोना संदेश की कॉलर टोन हटाने के लिए पत्र लिखा है।
कॉलर टोन के चलते किसी से बात करने के लिए करना पड़ता है लंबा इंतजार
राजस्थाना के कांग्रेस विधायक ने सूचना प्रसारण मंत्री को लिखे पत्र में मोबाइल फोन से कोरोना संदेश को बंद करने की मांग की है। कॉलर टोन को हटाने की मांग करते हुए विधायक ने पत्र में लिखा है, चार महीने से कोरोना संदेश सुन कर कान पक गए हैं। इस कॉलर टोन के चलते किसी से बात करने के लिए लंबा इंतजार करना पड़ता है। कोरोना से जागरुकता को जो संदेश लोगों तक पहुंचना था वह पहुंच चुका है। ऐसे में अब इस संदेश की आवश्यकता नहीं है और इसे बंद किया जाए।
पहले भी विवादों में रहे हैं विधायक
बताते चलें कि भरत सिंह वही विधायक हैं जिन्होंने बीते दिनों राजस्थान में शराब के ठेकों को खोलने के लिए पत्र लिखा था। उस दौरान भरत सिंह ने कहा था कि शराब पीने से कोरोना का खतरा नहीं रहेगा। शराब से कोरोना खत्म हो जाएगा। भरत सिंह कोटा जिले की सांगोद विधानसभा क्षेत्र के विधायक हैं। वह राजस्थान के पंचायतीराज मंत्री भी रह चुके हैं।
पीएम मोदी और लोकसभा सचिवालय को भी भेजी प्रतिलिपि
भरत सिंह ने पीएम मोदी और लोकसभा सचिवालय को भी पत्र की प्रतिलिपि भेजी है। पत्र में साफ लिखा है कि मार्च 2020 से जून 2020 तक लगभग 4 महीने से देश की जनता को कोविड-19 से बचने के लिए यह संदेश प्रदान किया जा रहा है। मेरा मानना है कि जो कोविड-19 से बचाव का जो संदेश जनता में जाना था वह चला गया है और अब इसे बंद करा देना चाहिए। अब मोबाइल फोन से यह संदेश टोन हटवा देना चाहिए।